पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मर्चेन्ट मिल में उत्पादन बढ़ाने की पहल:रेल मिल ने ब्लूम्स की इन-हाउस रोलिंग कर तैयार किया बिलेट्स

भिलाई19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मर्चेंट मिल में टीमटी बार की रोलिंग के लिए टीम ने प्रयोग किया। - Dainik Bhaskar
मर्चेंट मिल में टीमटी बार की रोलिंग के लिए टीम ने प्रयोग किया।

बीएसपी ने बाजार में बढ़ती मांगों को देखते हुए मर्चेन्ट मिल में टीएमटी उत्पादन बढ़ाने के लिए बिलेट्स की उपलब्धता में वृद्धि करने का निर्णय लिया। इसके तहत संयंत्र के रेल एण्ड स्ट्रक्चरल मिल ने पहली बार एसएमएस-2 के कास्टर नंबर-4 से 320 बाई 340 मिमी के 256 ब्लूम्स की सफलतापूर्वक रोलिंग कर 125 बाई 125 मिमी वाले बिलेट्स में बदला। इसका वजन 1046 टन है। इसकी आपूर्ति टीएमटी बार के रोलिंग के लिए मर्चेन्ट मिल को उपलब्ध कराया जाएगा।

अफसरों के मुताबिक यह रोलिंग एक चुनौतीपूर्ण कार्य था जिसे रेल मिल बिरादरी ने बखूबी अंजाम दिया। निदेशक प्रभारी अनिर्बान दासगुप्ता के नेतृत्व में रणनीतिक निर्णय लिया गया। इसे कार्यपालक निदेशक (वर्क्स) राजीव सहगल के मार्गदर्शन में सफलतापूर्वक संपन्न किया गया। विदित हो कि इससे पूर्व मर्चेन्ट मिल ने 32 मिमी टीएमटी बार के रोलिंग के लिए दुर्गापुर स्टील प्लांट से 125 बाई 125 मिमी वाले बिलेट्स की आपूर्ति की गई थी।

इस बिलेट्स की सफलतापूर्वक ट्रायल रोलिंग ने बीएसपी बिरादरी के समक्ष इस प्रकार के बिलेट्स की आपूर्ति सुनिश्चित करने की चुनौती रखी। इस चुनौती को रेल एवं स्ट्रक्चरल मिल ने स्वीकार करते हुए बीएसपी के एसएमएस-2 से प्राप्त ब्लूम्स को रोल कर 125 बाई 125 मिमी वाले बिलेट्स में बदलने का बीड़ा उठाया है। सफलता भी हासिल की।

टीम ने रोल-पास डिजाइन में भी परिवर्तन किया

इस रोलिंग को सफलतापूर्वक अंजाम देने के लिए रेल मिल के विभिन्न अनुभागों ने विभिन्न माॅडिफिकेशन्स को अंजाम दिया जैसे आरटीएस एवं आरपीडीबी की टीम ने रोल-पास डिजाइन में परिवर्तन किया। इसी प्रकार रेल एवं स्ट्रक्चरल मिल की टीम ने गाइड्स को मॉडिफाइड करने के साथ ही बिलेट्स को कुलिंग बेड में सीधा रखने हेतु अन्य कई माॅडिफिकेशन्स को अंजाम दिया गया। इसी प्रकार इसके निर्धारित साइज में काटने के लिए प्रबंध किए गए। इसके बाद रोलिंग का काम शुरू किया गया।

एक महीने पहले 26 जनवरी को भी ब्लूम्स की की गई थी रोलिंग

125 बाई 125 मिमी वाले बिलेट्स के रोलिंग के लिए रेल मिल, आरटीएस एवं आरपीडीबी की संयुक्त टीम ने रोलिंग स्टैंड में आवश्यक सुधार किए। इस प्रकार बीएसपी में पहली बार कास्ट स्टील ब्लूम्स को आरएसएम द्वारा बिलेट्स में कन्वर्ट किया गया। इन समग्र प्रयास से मर्चेन्ट मिल में टीएमटी उत्पादन बढ़ाना संभव हो सकेगा।

इससे पूर्व 26 जनवरी को रेल मिल बिरादरी ने एसएमएस-3 द्वारा उत्पादित 300 बाई 335 मिमी के 24 ब्लूम्स की सफलतापूर्वक रोलिंग कर 125 बाई 125 मिमी वाले बिलेट्स में बदला गया। इस सफलता से विभाग के अफसर-कर्मचारियों का भी उत्साह बढ़ा है। इस महत्वपूर्ण व अभिनव उपलब्धि के लिए कार्यपालक निदेशक (वक्र्स) राजीव सहगल ने रेल एवं स्ट्रक्चरल मिल के सम्पूर्ण रेल मिल, आरटीएस एवं आरपीडीबी टीम को बधाई दी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज ग्रह गोचर और परिस्थितियां आपके लिए लाभ का मार्ग खोल रही हैं। सिर्फ अत्यधिक मेहनत और एकाग्रता की जरूरत है। आप अपनी योग्यता और काबिलियत के बल पर घर और समाज में संभावित स्थान प्राप्त करेंगे। ...

    और पढ़ें