जामुल का मामला, पीड़िता को क्षतिपूर्ति भी देना होगा:नाबालिग से दुष्कर्म, कोर्ट से आजीवन कारावास की सजा

भिलाई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नाबालिग का अपहरण और दुष्कर्म करने वाले आरोपी केशव साहू निवासी पुलगांव को कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। कोर्ट ने आरोपी पर 60 हजार रुपए का अर्थदंड भी लगाया है। पीड़िता को 6 लाख रुपए क्षतिपूर्ति राशि भी आरोपी को देना होगा।

यह फैसला शनिवार को न्यायाधीश अविनाश कुमार त्रिपाठी की कोर्ट ने सुनाया है। लोक अभियोजन संतोष कसार ने बताया कि मामला जामुल थाना क्षेत्र का है। वर्ष 2017 जनवरी में पीड़िता के परिजन ने नाबालिग बेटी की गुमशुदगी दर्ज कराई थी। केस दर्ज होने के तीन दिन बाद ही पुलिस ने आरोपी को रायपुर के पुरदा गांव से पकड़ लिया था। आरोपी के कब्जे ने नाबालिग को दस्तयाब करके परिजन को सौंप दिया था। नाबालिग ने अपने बयान में बताया था कि वह आरोपी को पिछले 6 महीने से जानती थी। 21 जनवरी को सुबह वह कैलाश नगर अपनी सहेली के साथ उर्दू सीखने के लिए मदरसा जा रही थी।

आरोपी ने फोन करके उसे कुरुद में मिलने के लिए बुलाया था। आरोपी उसे अपने बाइक में बैठाकर रायपुर ले गया था। शादी करने का झांसा देकर उसके साथ किराए के कमरे में शारीरिक संबंध बना लिए थे। इसके बाद नाबालिग ने अपने परिजनों को पूरी बात बताई फिर थाने में अपराध दर्ज कराया। पूछताछ के बाद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 363, 366, 376 और पॉक्सो एक्ट तहत कार्रवाई की।

खबरें और भी हैं...