पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कमजोर पड़ रहा कोरोना:पॉजिटिव से ज्यादा रिकवर, सितंबर में थे 3500 एक्टिव मरीज, अक्टूबर में 2000 हुए

भिलाई10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो
  • 28 सितंबर से जिले में कोरोना का फॉल डाउन

जुलाई से लेकर सितंबर तक जिले में बेकाबू रहा को राना अब कमजोर पड़ने लगा है। पिछले 2 महीने की तुलना में रिकवरी बेहतर होने से एक्टिव मरीजों की संख्या घट गई है। अगस्त से सितंबर तक यहां रोज कोरोना ब्लास्ट होने से औसतन 3500 एक्टिव मरीज रेगुलर हुआ करते थे। अक्टूबर के 15 दिनों में नए मरीजों की संख्या कम होने व रिकवरी बेहतर होने से यह गिरते हुए औसतन 2000 पर पहुंच गई है।

जिले में कोरोना का यह फाल डाउन यूं तो 28 सितंबर से ही शुरू हो गया है, लेकिन रफ्तार इधर अक्टूबर के दूसरे सप्ताह से बढ़ी है। अब तो रोज जितने नए पॉजिटिव मिल रहे हैं। उससे ज्यादा की अस्पतालों से छुट्टी हो जा रही है। पिछले 16 दिनों में (1 सितंबर से 16 सितंबर के बीच ) ऐसा 10 बार हुआ है।

यहीं नहीं सितंबर में नए पॉजिटिव मरीजों की जो संख्या अमूमन 200 या 300 के पर चली जा रही थी, वह अक्टूबर के पिछले 16 दिनों में सिर्फ एक बार 300 और 4 बार 200 के पार गई है। अब रिकवरी रेट बेहतर हुआ है।

19 सितंबर: अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा

19 सितंबर हो एक्टिव मरीजों का आंकड़ा अबतक का हाइमास्ट आंकड़ा है। इस दिन 322 नए पॉजिटिव मरीजों के मिलने से जिले में कुल एक्टिव मरीजों की संख्या 4570 पर पहुंच गई थी। इससे पहले एक दिन में नए पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 500 से पार भी गया, लेकिन एक्टिव मरीजों की संख्या इतना कभी नहीं हुई थी।

25 सितंबर: रिकार्ड 2090 की छुट्टी हुई

25 सितंबर को एक ही दिन में अलग-अलग अस्पतालों से कुल 2090 पॉजिटिव मरीजों की छुट्टी की गई। इससे पहले एक साथ इतनी बड़ी संख्या में छुट्टी वाले मरीजों का सबसे बड़ा आंकड़ा 10 सितंबर को 602 मरीजों का था। 25 सितंबर को 2000 से ज्यादा मरीजों की एक साथ छुट्टी होना अबतक की सबसे बड़ी संख्या है।

इन ग्राफ से समझिए जिले में कोरोना का हाल

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- चल रहा कोई पुराना विवाद आज आपसी सूझबूझ से हल हो जाएगा। जिससे रिश्ते दोबारा मधुर हो जाएंगे। अपनी पिछली गलतियों से सीख लेकर वर्तमान को सुधारने हेतु मनन करें और अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करें।...

और पढ़ें