पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उत्पादन का नया रिकार्ड:सेल ने अंतिम तिमाही में 12,000 करोड़ रुपए का कैश कलेक्शन प्रोडक्शन का भी बनाया रिकॉर्ड

भिलाई6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सोमा मंडल - Dainik Bhaskar
सोमा मंडल

स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) ने वित्त वर्ष 2020-21 की चौथी तिमाही के दौरान उत्पादन और बिक्रियों, दोनों में अपना अब तक के किसी भी एक तिमाही में उत्पादन का नया रिकार्ड स्थापित करने में कामयाब रहा। वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान बाजार में अस्थिरता के बावजूद, कंपनी द्वारा बिक्री की मात्रा बढ़ाने के लिए दृढ़ प्रयास किया। जिसके कारण अब तक की सर्वाधिक वार्षिक बिक्रियां 14.87 मिलियन टन दर्ज की गई। जो वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान की 14.23 मिलियन टन बिक्रियों पर 4.4% की वृद्धि है।

सेल की अध्यक्ष सोमा मंडल ने कहा कि वित्त वर्ष के शुरुआत महीनों के दौरान बाजार कठिन स्थिति में आ गया था। जिसके बाद कंपनी ने बिक्रियों की मात्रा बढ़ाने, प्रचालन संबंधी दक्षताओं में सुधार लाने, अनुकूल स्तर की सुविधाओं को चलाने, बैलेंस शीट का बकाया चुकाने, इन्वेन्ट्री के स्तर को कम करने पर ध्यान देने का कार्य किया है। इस वर्ष बेहतर कारोबार का ही नतीजा रहा कि सेल ने अंतिम तिमाही के अंतिम महीने में 12 हजार करोड़ से अधिक का कैश कलेक्शन का नया रिकार्ड बनाया है। बीएसपी एक बार फिर पहले स्थान पर रहा।

चुनौती से निपटने बनी रणनीति रही सटीक

इस रणनीति के चलते माह, तिमाही और वर्ष के दौरान अपने कार्य-निष्पादन को उच्च शिखर पर ले जाने में मदद मिली है। सेल के कार्मिकों के सामूहिक प्रयासों से देश में खासकर इन्फ्रास्ट्रक्चर निर्माण, ऑटोमोबाइल इत्यादि जैसे स्टील के अधिक उपयोग वाले क्षेत्रों में आर्थिक क्रियाकलाप बढ़ने से उत्पन्न अवसरों को हासिल करने में मदद मिली है। कंपनी ने अपनी उधारियों को कम करने पर बल देते हुए अपने सकल कर्ज को तकरीबन 16150 करोड़ रु. तक कम किया है, जिससे 31 मार्च की स्थिति के अनुसार 35330 करोड़ रुपए हो गया है, जो कि 31 मार्च की स्थिति के अनुसार 51481 करोड़ रुपए था।

खबरें और भी हैं...