पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bhilai
  • SAIL Chairman Refused To Meet, Then Wrote A Memorandum Of Demand On The Road, We Want Clean Water And We Want Local Employment, Bhilai, Chhattisgarh

भिलाई में युवा कांग्रेस का अनोखा प्रदर्शन:सेल चेयरमैन ने मिलने से किया इंकार, फिर सड़क पर लिखा मांग का ज्ञापन , वी वांट क्लीन वाटर व वी वांट लोकल एम्प्लॉयमेंट

भिलाई5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सेल चेयरमैन को बताने के लिए सड़क पर ज्ञापन लिखा। - Dainik Bhaskar
सेल चेयरमैन को बताने के लिए सड़क पर ज्ञापन लिखा।

भिलाई स्टील प्लांट(BSP) टाउनशिप के गंदे पानी की समस्या पिछले करीब 70 दिनों से है। जिसको लेकर शुक्रवार को युवा कांग्रेस ने अनोखे ढंग से प्रदर्शन किया। सड़क पर पेंट से लिखकर चेयरमैन को ज्ञापन सौपा। इस माध्यम से उन्हें गंदे पानी की समस्या को बताने की कोशिश की गई।

सेल चेयरमैन BSP के दौरे पर है। युवा कांग्रेस के पदाधिकारियों ने मिलने का समय मांगा था, लेकिन उन्हें नहीं मिला। इस लिए सड़क पर ही ज्ञापन लिखकर अपनी मांगों को पहुंचा दिया है। यह अब तक का सबसे अनोखा प्रदर्शन होगा। युवा कांग्रेस के पदाधिकारी चेयरमैन से मिलकर उन्हें टाउनशिप के अंदर आ रहे गंदे पानी की समस्या से रुबरु करना चाह रहे थे। युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव मोहम्मद शाहिद व उनकी टीम द्वारा भिलाई निवास व आस पास की सड़कों पर जहां से सेल चेयरमैन का आना-जाना होगा, उन सभी सड़कों पर, वी वांट क्लीन वाटर व वी वांट लोकल एम्प्लॉयमेंट लिखकर अपनी मांग को रखा है।

टाउनशिप में युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने कुछ इस तरह से प्रदर्शन किया।
टाउनशिप में युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने कुछ इस तरह से प्रदर्शन किया।

मोहम्मद शाहिद ने बताया कि हमारा उद्देश्य सिर्फ इतना था कि भिलाई का पानी सेल चेयरमैन को पिलाना व उनको यहां की समस्याओं से अवगत कराना चाहते थे। लेकिन BSP प्रबंधन की ओर से हमें मिलने का समय नहीं दिया गया। उसके बाद हम लोगों ने इस सड़क पर अपनी मांगों को लिख दिया।

केन्द्रीय मंत्री तक पहुंच चुकी है गंदे पानी की समस्या
दुर्ग जिले के प्रभारी मंत्री मोहम्मद अकबर केन्द्रीय इस्पात मंत्री व सेल चेयरमैन को पानी की समस्या से अवगत करा चुके है। भिलाई टाउनशिप में करीब 30 हजार आवासीय मकान है, और इसमें 1 लाख 20 हजार लोग निवास करते हैं। यहां शुद्ध जल की स्थिति बेहद चिंताजनक है। यहां पेयजल का नमूना परीक्षण कराए जाने पर शुद्धता में समस्या आई है।

खबरें और भी हैं...