पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अंतिम तिमाही की वित्तीय समीक्षा आज:सेल ने अंतिम तिमाही में कमाए सात हजार करोड़, बैठक में आज पेश होगा रिपोर्ट कार्ड

भिलाई21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • तीसरी तिमाही में 1283 करोड़ का शुद्ध प्रॉफिट कलेक्ट किया

सेल बोर्ड की 31 मई को होने वाली बैठक में वित्त वर्ष 2020-21 के अंतिम तिमाही जनवरी से मार्च के नतीजे घोषित किए जाएंगे। जिसमें कंपनी को करीब 7000 करोड़ तक प्रॉफिट होने का अनुमान है। वित्त वर्ष 2020-21 में सेल पहली तिमाही अप्रैल से जून 2020 में बड़े घाटे में रहने की वजह से दूसरी तिमाही जुलाई से सितंबर 2020 में प्रॉफिट में रहने के 6 माह बाद भी कंपनी घाटे से उबर नहीं पाई थी।

लेकिन तीसरी तिमाही अक्टूबर से दिसंबर 2020 में स्टील मार्केट के जोर पकड़ने से दामों में भी प्रति टन करीब 15,000 की वृद्धि हुई। कारोबार भी जमकर हुआ। जिसकी वजह से सेल तीसरी तिमाही में ही 3645 करोड़ का लाभ अर्जित करने में सफल रहा। टैक्स काटने के बाद सेल को शुद्ध 1283 करोड़ का प्रॉफिट हुआ। दूसरी और तीसरी तिमाही में स्टील मार्केट का जो ट्रेंड था, वह अंतिम तिमाही में भी बना रहा। कैश कलेक्शन के अपने पुराने सारे रिकॉर्ड को ध्वस्त कर दिए।

पिछले वित्त वर्ष में निजी कंपनियां भी मुनाफे में रहीं
जानकारों के मुताबिक, पिछले वित्त वर्ष में सेल ने प्रॉफिट में रहा ही। इसके अलावा निजी क्षेत्र में काम करने वाली कंपनियों ने भी अच्छा खासा कारोबार किया किया। इसकी वजह से उन्हें मुनाफा भी खूब हुआ। जानकार उसी को आधार मानते हुए सेल को भी सात से आठ हजार करोड़ तक मुनाफा होने का अनुमान जता रहे हैं।

वेज रिवीजन जल्द होने की उम्मीद जता रहे अफसर
बीते वित्त वर्ष अंतिम वित्तीय नतीजे घोषित किए जाने के बाद अफसरों और कर्मचारियों के पे रिवीजन भी जल्द होने की उम्मीद जताई जा रही है। कंपनी के अधिकारी और कर्मचारी 53 महीने से इसका इंतजार कर रहे हैं। एक बार दोनों पक्षों का ही वेतन समझौता 10 वर्षों के लिए होने जा रहा है। अभी दबाब बनाना शुरू कर दिया है।

यूनियनों ने बैठक से पहले दबाव बनाना शुरू किया
सेल बोर्ड के बैठक की तारीख नजदीक आते ही यूनियनें सक्रिय हो गई है। शुक्रवार को जल्दी राजहरा माइंस में सीटू के बैनर तले कर्मचारियों ने जल्द वेज रिवीजन की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। वहीं बीएसपी में इंटक ने अपने यूनियन कार्यालय में बैठक कर वेज रिवीजन के लिए प्रबंधन पर दबाव बनाने की कोशिश की।

खबरें और भी हैं...