2 आरक्षकों के खिलाफ एक्शन:शराब तस्करी के आरोपी से मारपीट का आरोप, लगातार शिकायत भी मिल रही थी; SSP ने किया लाइन अटैच

दुर्ग7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एसएसपी बीएन मीणा ने यह कार्रवाई की है। - Dainik Bhaskar
एसएसपी बीएन मीणा ने यह कार्रवाई की है।

दुर्ग जिले के जेवरा सिरसा चौकी में पदस्थ दो आरक्षकों को दुर्ग एसएसपी बीएन मीणा ने लाइन अटैच कर दिया है। बताया जा रहा है कि इन आरक्षकों के खिलाफ काफी समय से शिकायतें मिल रही थीं। इसी दौरान इन आरक्षकों ने एक शराब तस्करी के आरोपी से मारपीट भी की। जब इनसे जवाब मांगा गया तो यह उसका कारण नहीं बता पाए। इससे प्रशासनिक कारणों को देखते हुए एसएसपी ने उन्हें लाइन अटैच करने का आदेश जारी किया।

जेवरा सिरसा चौकी अंतर्गत रहने वाला सौमित्र निषाद काफी समय से शराब की अवैध तस्करी और बिक्री करता आ रहा है। उसके द्वारा अवैध शराब बिक्री करने से क्षेत्र का माहौल खराब हो रहा था। इससे ग्रामीणों में काफी नाराजगी भी थी। 25 अक्टूबर को वह एक कार में शराब लेकर जेवरा सिरसा आ रहा था। इसी दौरान ग्रामीणों को इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने कार को घेरकर हंगामा शुरू कर दिया।

जब पुलिस मौके पर पहुंची तलाशी लेने पर कार से 18000 रुपए कीमत की अवैध शराब पकड़ी गई। पुलिस ने इस मामले में कार मालिक पंकज निषाद को गिरफ्तार किया। पंकज ने पुलिस को बताया कि शऱाब तस्करी का काम सौमित्र निषाद करता है। जब पुलिस सौमित्र को पकड़ने गई तो पता चला कि इस काले कारनामे की जानकारी जेवरा सिरसा चौकी में पदस्थ सिपाही हरीश सिंह और संतोष सोनी को थी। उन्होंने समय पर रुपए न देने के चलते शराब तस्करी के आरोपी सौमित्र के साथ मारपीटा भी की थी

इधर, इसकी जानकारी एसएसपी दुर्ग को हुई तो उन्होंने सिपाहियों के बारे में जानकारी मंगाई। इसमें पता चला कि दोनों सिपाहियों के खिलाफ दर्जनों शिकायतें हैं। समझाने के बाद भी वह नहीं मान रहे थे। जिसके बाद यह कार्रवाई की गई है।

खबरें और भी हैं...