राहत भरी खबर:टाउनशिप में अब 5 महीने तक नहीं बढ़ेगा टैरिफ आयोग ने बीएसपी प्रबंधन से नया प्रस्ताव मंगवाया

भिलाई4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

टाउनशिप के करीब 33 हजार उपभोक्ताओं को बिजली के लिए राहत भरी खबर है। अगले 5 महीने तक उन्हें वर्तमान दर से ही बिजली का भुगतान करना होगा। प्रबंधन के टैरिफ में 3% वृद्धि के प्रस्ताव को नियामक आयोग ने लौटा दिया है। नए वित्त वर्ष के लिए नए सिरे से प्रस्ताव भेजने का निर्देश दिया है। पांचवें वर्ष भी टैरिफ में राहत दे दी है। आयोग ने बीएसपी के बिजली टैरिफ में वृद्धि के प्रस्ताव को यह कहकर खारिज कर दिया कि वित्तीय वर्ष को सिर्फ 2 महीने शेष हैं।

नए सिरे से प्रस्ताव भेजने के लिए जारी हुए निर्देश
नियामक आयोग ने बीएसपी प्रबंधन से अब नए वित्त वर्ष 2022-23 के लिए नए सिरे से प्रस्ताव बनाकर भेजने का निर्देश दिया है। इसमें वित्त वर्ष 2021-22 में बिजली के उत्पादन लागत और उपभोक्ताओं को सप्लाई और इसमें विभाग को हुए नफा नुकसान की जानकारी देने कहा गया है।

टैरिफ में वृद्धि नहीं होने से लगातार बढ़ रहा घाटा
बीएसपी के लिए सबसे बड़ी समस्या टाउनशिप के साथ-साथ खुर्सीपार एरिया में उसके मकानों में कब्जे कर रह रहे लोगों से है, जो बीएसपी की बिजली चोरी कर मकान को रौशन कर रहे हैं। इस एरिया में 40 फीसदी मकान कब्जे में है। जिनसे प्रबंधन बिजली बिल वसूल नही कर पा रहा है।

प्रबंधन सप्लाई व्यवस्था को अपग्रेड करना चाह रहा
वित्तीय वर्ष 2020-21 तक टाउनशिप में नियमित बिजली सप्लाई के लिए बड़े खर्च की आवश्यकता है। वर्ष 2016-17 में 89.32 करोड़, वर्ष 2017-18 में 96.79 करोड़, वर्ष 2018-19 में 102.28 करोड़, वर्ष 2019-20 में 108 करोड़ और वर्ष 2020-21 में 113.80 करोड़ की जरूरत थी।

टाउनशिप में बिजली की खपत हर साल 200 मेगावाट से ज्यादा

  • 200 मेगा यूनिट बिजली की खपत हो रही है हर साल
  • 66 करोड़ रुपए की होती है टाउनशिप में बिलिंग
  • 50 करोड़ तक हो पाती है वसूली, इसलिए हो रहा नुकसान
  • 16 करोड़ रुपए की वसूली हर साल रह जाती है पेंडिंग।
खबरें और भी हैं...