पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हमारे पास सिर्फ आज के लिए कोवीशील्ड:संकट गहराया; शासन को लगातार भेजा जा रहा रिमाइंडर, नहीं कराया गया उपलब्ध, राजनांदगांव का स्टॉक भी खत्म हो रहा

भिलाईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नांदगांव से तीसरी बार मंगानी पड़ी
  • 18 प्लस के लिए शुरू वैक्सीनेशन अभियान पर फिलहाल लगी रोक

जिले में कोरोना वैक्सीन के तहत जिन लोगों को कोवीशील्ड का दूसरा डोज लगना है, उन्हें लगातार केंद्रों से लौटाया जाना जारी है। गुरुवार को जिले में केवल 450 डोज की वैक्सीन की बची थी। वैक्सीनेशन प्रभावित न हो, इसके लिए तीसरी बार राजनांदगांव से वैक्सीन मंगानी पड़ी। इस बार 3 हजार डोज मंगाए गए हैं।

जिले में कोवीशील्ड की उपलब्धता 3450 हो गई है। जिन लोगों को पहला डोज लगा चुका है, ऐसे लोग 3 हजार से ज्यादा पहुंच रहे हैं। इसलिए वैक्सीन की इतनी डोज एक बार फिर शुक्रवार की शाम तक खत्म हो जाएगी। आईसीएमआर की गाइडलाइन के मुताबिक वैक्सीन का दूसरा डोज 28 से 56 दिनों के भीतर लेना जरूरी है। इस वजह से बड़ी संख्या में लोग केंद्रों तक पहुंच रहे हैं। इधर अंत्योदय कार्डधारियों के लिए 18 केंद्रों में शुरू किया गया वैक्सीनेशन बंद कर दिया गया है।

18 प्लस के लिए 10,126 डोज, अभियान स्थगित
18 प्लस के कोटे में जिले में 10,126 डोज कोवैक्सीन बची है। हाई-कोर्ट के निर्देशानुसार अभी प्लान नहीं बना, इसलिए इस ग्रुप का टीकाकरण स्थगित कर दिया गया। पांच दिनों में 1474 लोगों को कोवैक्सीन की पहली डोज दी गई है। हाई कोर्ट के आदेश के बाद अंत्योदय हितग्राहियों के 18 प्लस वाले लोगों को वैक्सीन लगाया जाना बंद कर दिया गया है।.

केवल 8 दिनों का स्टॉक
हेल्थ वर्कर, फ्रंट लाइन वॉरियर और 45 प्लस के कोटे में “कोवैक्सीन” की शार्टेज है। इसका सिर्फ 8203 डोज बचा हुआ है। जिले में रोज पहला डोज औसतन 1000 लोग ले रहे हैं। वैक्सीन सिर्फ 8 दिन ही चलेगी।

पोस्ट कोविड का खतरा बढ़ा, इधर सेक्टर-9 में 123 मरीज पहुंचे
कोरोना से रिकवर हो चुके मरीजों के कमर में दर्द, सांस लेने में तकलीफ, पैरालिसिस और हार्ट अटैक जैसी पेरशानियां सामने आ रही है। पोस्ट कोविड कॉम्लीकेशन झेल रहे मरीजों की संख्या इतनी ज्यादा हो गई कि सेक्टर-9 अस्पताल प्रशासन ने इनके लिए अलग से पोस्ट कोविड ओपीडी संचालित किया गया है। यहां के 1- ए ब्लॉक में रोज सुबह 8 बजे से दोपहर बाद डेढ़ बजे तक जनरल, चेस्ट और रेस्पेरेटरी मेडिसिन के डॉक्टर बैठाए जा रहे हैं। दो दिनों में उन्होंने पोस्ट कोविड कॉम्लीकेशन के 123 मरीज का इलाज शुरू किया हैं। इन मरीजों में बदन और कमर दर्द और सांस लेने में परेशानी होना बताया है।

अब तक 3340 भर्ती, 2412 रिकवर
सेक्टर-9 अस्पताल में अबतक कुल 3340 कोरोना मरीज भर्ती हुए हैं। इनमें से 2412 की रिकवरी हो गई है। 732 मरीज भर्ती हैं। 196 मरीजों को मौत हुई है। रिकवर हुए मरीजों में पोस्ट कोविड कॉम्लीकेशन हो रहा है।

729 नए मरीज मिले, 18 मरीजों को मौत, संक्रमण दर 15% हुई
गुरुवार को जिले में 729 नए कोरोना मरीज मिले हैं। 18 कोरोना मरीजों की मौत भी हो गई है। नए मरीजों से कुल मरीजों की संख्या 90, 637 हो गई है। इनमें से 83 हजार 229 मरीजों की रिकवरी और 1508 मरीजों की मौत हो जाने से एक्टिव मरीजों की संख्या 5908 है। कुल मौतों में गुरुवार की 18 मौतें शामिल हैं। एक्टिव मरीजों का ग्राफ जिले में एक बार फिर बढ़ने लगा है। 5 दिन पूर्व इसकी संख्या 3000 के पास थी, फिर 5 हजार के पार चली गई है।

राहत की खबर: 6 दिन में आधी हो गई संक्रमण दर
जिले में संक्रमण की दर निरंतर गिरती जा रही है। 1 मई को संक्रमण दर 23% थी। 6 मई को यह 15% हो गई है। बीच के दिनों में संक्रमण दर सिर्फ 2 मई को 31% थी, लेकिन शेष दिनों में 23 से 15 के बीच ही रही है। इस प्रकार संक्रमण दर में पिछले छह दिनों में गिरावट दर्ज की गई है। हेल्थ विभाग के अधिकारियों के मुताबिक लगातार नजर रखी जा रही है। लोगों से अपील की गई है कि ऐसे समय में ज्यादा सतर्कता की जरूरत है। आईसीएमआर ने तीसरी लहर को लेकर भी अलर्ट किया है।

खबरें और भी हैं...