पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

उम्मीदों का टीका:10,260 डोज की पहली खेप पहुंची, हर सेंटर में 100 डोज की ही सप्लाई

भिलाई2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 16 जनवरी को पांचों वैक्सीनेशन सेंटर भेजेंगे

कोरोना से संघर्ष करते नौ महीने बीत चुके। लॉकडाउन के दौरान जिंदगी की जद्दोजहद लोग भूल नहीं पाए हैं। अब राहत का समय आया है। कोरोना वैक्सीन की पहली खेप शहर पहुंच चुकी है। सबसे पहले फ्रंटलाइन के वाॅरियर्स को यह उम्मीद का टीका लगेगा। इसके बाद बुजुर्गों और बीमार लोगों को लगाई जाएगी। इस दौरान हमें भी अपनी जिम्मेदारी पूरी करनी होगी। कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हमें अब भी करना है। वैक्सीन की अभी दूसरी डोज भी आएगी।

सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा बनाई गई 10260 डोज कोवीशिल्ड वैक्सीन बुधवार की शाम सीएमएचओ कार्यालय पहुंच गई। यहां उसको 2.27 लाख क्षमता वाले वैक्सीन स्टोर के आइएलआर (आईस लाइन रेफ्रिजरेटर) में रखा गया। 16 जनवरी के प्रस्तावित वैक्सीनेशन में यहीं से 100-100 डोज पांचों सेंटरों पर भेजी जाएगी। तब तक दो सीसीटीवी कैमरे और चार गार्डों की निगरानी में पूरी खेप यही रहेगी। पहले फेज के इस वैक्सीनेशन के लिए स्वास्थ्य विभाग ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से 20510 डोज की डिमांड की थी, लेकिन वहां से अभी आधी ही भेजी गई। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. सुदामा चंद्राकर बताया कि शेष डोज केंद्र अगले खेप में भेजेगा। यह भी स्पष्ट किया कि 16 जनवरी को पांचों सेंटरों पर 500 डोज का ही इस्तेमाल होगा। अभी आई 10260 डोज में से 500 डोज के यूज के बाद बची 9760 वैक्सीन आगे के शेड्यूल पर लगाई जाएगी।

ऐसे पहुंची वैक्सीन

  • 12:50 बजे- वैक्सीन वैन पुलिस सुरक्षा के बीच रायपुर रवाना।
  • 1:30 बजे- शदाणी दरबार के स्टोर से 30 हजार सीरिंज ली।
  • 2:45 बजे- पुराना मंत्रालय के राज्य वैक्सीन स्टोर पहुंची।
  • 2:50 बजे- एयरपोर्ट से बाई रूट वैक्सीन राज्य स्टोर पहुंची।
  • 4:15 बजे- यहां से वैक्सीन के वितरण का कार्य शुरू हुआ।
  • 05: 10 बजे- जिला टीम को 10260 डोज कोवीशिल्ड दी गई।
  • 06: 30 बजे- जिला की टीम मिले डोज लेकर दुर्ग पहुंच गई।

वैक्सीन के बारे में सब कुछ जानिए

  • आई वैक्सीन - 10260 डोज
  • जिले में जरूरत- 20510 डोज
  • कम्पनी का नाम- सीरम इंस्टीट्यूट
  • उसका ब्रांड नेम- कोवी-शिल्ड।
  • जरूरी टैम्प्रेचर- 2 से 8 डिग्री
  • मैन्युफैक्चरिंग- 01 नवंबर 2020
  • एक्पायरी डेट- 29 अप्रैल 2021

5 जिलों में ज्यादा जरूरत

  • 37390 डोज- रायपुर
  • 22950 डोज- बिलासपुर
  • 20510 डोज- दुर्ग
  • 20360 डोज- रायगढ़
  • 17180 डोज- राजनांदगांव

जिला वैक्सीन भंडार में रखी वैक्सीन की सुरक्षा के लिए इतने और इंतजाम भी किए गए
​​​​​आईआरएल में टैम्प्रेचर लॉंगर : जिला स्टोर के सभी आईआरएल और डीप फ्रीजर में टैम्प्रेचर लॉंगर लगे हैं। इससे 24 घंटे सातों दिन यहां के प्रभारी को अंदर के टैम्प्रेचर का अपडेट पहुंचता रहता है। टैम्प्रेचर आर्दश स्थिति से कम होने से पहले ही सूचना मिल जाती है।
ई-वीन साफ्टवेयर से भी निगरानी: यहां का आईएलआर हो या डीप फ्रीजर सभी ई-वीन सॉफ्टवेयर से भी जुड़े हैं। इससे दिल्ली में बैठने वाल अधिकारी भी मौजूद डोज और खपत को जानता है। इस सॉफ्टवेयर से स्टॉक व खतप जब चाहे तब जाना जा सकता है।

कोल्ड बॉक्स और फॉयर सेफ्टी भी : विषम परिस्थितियों में भी कोल्ड चेन को मेंटेन रखने की व्यवस्था है। उस दशा में ड्राइ पोर्टेबल कोल्ड बॉक्स में लिक्विड आईस बैग लगाकर, वैक्सीन को अगले 24 घंटे के लिए सुरक्षित रख सकते हैं। फायर सेफ्टी भी की गई है।

जहां वैक्सीनेशन किया जाना है वहां अब आनन-फानन में की जा रही तैयारी

बैकुंठधाम में पीछे की ओर से नया रास्ता बनाया गया
यूपीएचसी बैकुंठधाम में वैक्सीनेशन के लिए बुधवार को पीछे की ओर से नया रास्ता बनाया गया है। मुख्य गेट को रूटीन मरीजों के लिए छोड़ा गया है।

नगपुरा में तो पहुंच मार्ग ही नए सिरे से बनाया जा रहा
पीएचसी,नगपुरा का चुनाव होना, उसके लिए फायदेमंद हो गया है। वहां के परिसर का समतलीकरण और पहुंच मार्ग नए सिरे से बनाया जा रहा है।

सीएचसी पाटन के केंद्र में रंग-रोगन कराया गया
सीएचसीपाटन में वैक्सीनेशन कक्ष का रंग-रोगन कराया गया है। यहीं नहीं इस सेंटर पर कम्यूनिकेशन के लिए साउंड सिस्टम भी लगाया गया है। वैक्सीनेशन से पहले सफाई यहां भी कराई जा रही है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपके स्वाभिमान और आत्म बल को बढ़ाने में भरपूर योगदान दे रहे हैं। काम के प्रति समर्पण आपको नई उपलब्धियां हासिल करवाएगा। तथा कर्म और पुरुषार्थ के माध्यम से आप बेहतरीन सफलता...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...

  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser