पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हादसा या लापरवाही:इंजेक्शन लगते ही महिला को उल्टी आई, पांच मिनट के अंदर हो गई मौत

भिलाई3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डॉक्टर बोले- इलाज सही किया गया, सांस नली में कचरा फंस गया था

झीट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में सर्दी का इलाज करने आई 35 वर्षीय महिला की इंजेक्शन लगने के पांच मिनट के भीतर ही मौके पर मौत हो गई। महिला अमलेश्वर थाने में पदस्थ पुलिसकर्मी अवधेश पांडे की पत्नी थी। शनिवार सुबह रजिस्ट्रेशन के बाद निहारिका पांडे डॉ. भागवत देशलहरा से मिली और बीमारी के बारे में बताया। डाक्टर ने दो इंजेक्शन लिखे। स्टाफ नर्स नगरो बानो द्वारा दूसरा इंजेक्शन लगाते ही निहारिका की तबीयत खराब होने लगी और उल्टियां शुरू हो गईं। शरीर नीला पड़ने लगा। डॉक्टर जब तक कुछ समझ पाते, महिला की कुछ ही देर में मौत हो गई। परिजन डॉक्टर और नर्स पर लापरवाही पूर्वक गलत दवा देने का आरोप लगा रहे हैं, जबकि डॉक्टर देशलहरा ने इस आरोप को निराधार बताते हुए कहा कि महिला के मर्ज का इंजेक्शन ही उन्होंने दिया था, लेकिन इंजेक्शन लगते ही उल्टियां होने लगीं। ऐसे में कचरे का कोई पार्टिकल उनकी सांस नली में चला गया और रेस्पिरेटरी सिस्टम फेल हो जाने से सांसें थम गईं। सीएचसी झीट के प्रभारी डॉ. कठौतिया ने बताया कि इंजेक्शन लगने पर ही नहीं, हमेशा वजह उल्टी होने पर सावधानी बरतनी चाहिए। पीड़ित को करवट लेटा देने से सांस की नली में कचरा जाने की संभावना कम हो जाती है। सांस की नली में कचरा फंसने से अचानक मृत्यु होने की आशंका बनी रहती है।

मृतिका के शरीर में पड़ गया जगह-जगह नीला दाग, चक्कर भी आया
डॉक्टर द्वारा बताया गया इंजेक्शन लगने के बाद मृतका के शरीर में जगह जगह नीला दाग पड़ गया। परिजनों ने ऐसी जानकारी दी। बताया कि इंजेक्शन लगने के 5 मिनट के भीतर मृतिका को बेचैनी होने लगी। उल्टियां होने के साथ ही जैसे ही उसकी सांसें थमी पूरे शरीर में नीले नीले चकत्ते पड़ गए और चक्कर आने लगे थे।

परिवार में तीन बच्चे, सबसे छोटे बेटे की उम्र महज 8 साल
महिला की मौत के लिए परिजनों ने डॉक्टर को जिम्मेदार ठहराया है। उनका कहना है कि इलाज में उसने लापरवाही बरती है। इसके अलावा परिवार में कुल तीन बेटे हैं उसके दो बेटे सातवीं क्लास में और सबसे छोटा चौथी क्लास में पढ़ता है। पति छत्तीसगढ़ पुलिस में सेवारत हैं। अपनी पत्नी को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र झीट वही गए थे उनके सामने ही उनकी पत्नी की इंजेक्शन लगने के उपरांत मौत हो गई। जबकि मृतिका का पति पुलिस में आरक्षक है।

कोई बीमारी नहीं, कोरोना टेस्ट नेगेटिव आया
दवा एडवाइज करने से पहले और मौत के बाद कोरोना की जांच के लिए एंटीजेन टेस्ट किया गया। ओपीडी पर्ची पर निगेटिव रिपोर्ट है। दोपहर बाद 01:45 बजे डॉक्टर ने महिला को मृत घोषित कर दिया। उनके सामने ही उनकी पत्नी की इंजेक्शन लगने के उपरांत मौत हो गई। डॉक्टर पहुंचने के बाद कुछ कर नहीं सके। थोड़ी देर पहले उन्होंने जिस महिला के इलाज के लिए इंजेक्शन एडवाइज किया था, वही उनकी आंखों के सामने मृत परी मिली। आगे उन्होंने महिला को डेड घोषित करने के बाद पोस्टमार्टम कराया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

    और पढ़ें