पुष्य नक्षत्र:आज दिनभर पंच महायोग, खरीदारी के लिए ऐसा महामुहूर्त 70 साल बाद

भिलाईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सुबह 9.40 बजे के बाद 26 घंटे खरीदारी के लिए शुभ, दान भी करें

गुरुवार को पुष्य नक्षत्र के साथ पूरे दिन पंच महायोग रहेगा। ऐसा संयोग 1951 के बाद पहली बार बन रहा है। ज्योतिषियों के अनुसार 26 घंटे के इस महामुहूर्त में हर तरह की खरीदारी लाभदायक रहेगी। खासतौर पर सोने-चांदी के जेवरात की खरीदारी, भूमि-भवन में निवेश के साथ घरेलू-कार्यालयीन उपयोग की सामग्री खरीदना फायदेमंद रहेगा। ज्योतिषाचार्य डॉ. दत्तात्रेय होस्केरे ने बताया कि हर वर्ष दीपावली, धनतेरस से ठीक पहले पुष्य नक्षत्र पड़ता है। इस बार पुष्य नक्षत्र गुरुवार को पड़ रहा है। यह सुबह 9.40 बजे से शुरू होगा और अगले दिन यानी शुक्रवार दोपहर 12 बजे तक रहेगा।

इन पंच महायोग के कारण यह पुष्य नक्षत्र होगा खास
धर्मग्रंथों के अनुसार गुरु और रवि पुष्य नक्षत्र को बहुत शुभ माना जाता है और यह गुरु पुष्य नक्षत्र है। पूरे दिन गुरु पुष्यामृत योग, सर्वार्थ सिद्धि योग, रवि योग, साध्य योग और सिद्धि योग जैसे पंच महायोग की युति भी बन रही है, जो इस दिन की शुभता को कई गुना बढ़ा रहे हैं। 26 घंटे के महामुहूर्त में खरीदी शुभ होगी।

पुष्य नक्षत्र के अवसर पर दान-पुण्य भी जरूर करें
आचार्य मोनू महाराज के अनुसार पुष्य नक्षत्र पर दान-पुण्य भी जरूर करना चाहिए। किसी गौशाला में हरी घास और गायों की देखभाल के लिए धन का दान करें। इस दिन किसी मंदिर में पूजन सामग्री भेंट करें। शिवजी को बेसन के लड्डू का भोग लगाएं। शिवलिंग पर चने की दाल और पीले फूल चढ़ाएं। इस दिन सेवा कार्य करना भी उत्तम है।

इस दिन खरीदी हुई वस्तुएं शुभता को प्राप्त करती हैं
आचार्य के अनुसार पुष्य नक्षत्र के दिन कोई भी यदि सामान खरीदा जाता है, वह अक्षयता को प्राप्त होता है। पुष्य नक्षत्र शनि प्रधान होता है, लेकिन इसकी प्रकृति गुरु से मिलती जुलती है। इसलिए इसे अमरेज्य कहा जाता है। इस दिन खरीदे हुए सामान को दीपावली के दिन मां महालक्ष्मी को अर्पित करने से वह शुभता काे प्राप्त होता है।

जानिए, ज्योतिषियों के अनुसार दिनभर में खरीदी व शुभ कार्यों के लिए यह समय उत्तम

  • सुबह 10.22 से 11.47 तक- रसोई के सामान।
  • सुबह 11.47 से 1.12 तक- ऑफिस में उपयोग का सामान।
  • दोपहर 1.12 से 2.38 बजे तक चांदी के जेवर।
  • शाम 4.03 से 5.29 बजे तक जमीन-भवन की रजिस्ट्री।
  • शाम 5.29 से 7.03 तक सोने के आभूषण।
  • शाम 7.03 से 8.38 बजे तक वाहन आदि की खरीदी।
  • रात 11.30 के बाद घर में उपयोग की सामग्री खरीद सकते हैं।
खबरें और भी हैं...