साप्ताहिक अवकाश पुलिसकर्मियों का हक:दुर्ग IG ने ली सभी SP की बैठक, कहा- सही पुलिसिंग करनी है तो CM-DGP के निर्देश का पालन करें

भिलाई9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आईजी ओपी पाल - Dainik Bhaskar
आईजी ओपी पाल

संभाग के सभी पुलिस कर्मियों जल्द ही साप्ताहिक अवकाश मिलेगा। दुर्ग रेंज के आईजी ओपी पाल ने इसको लेकर सभी पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सभी पुलिस अधीक्षक अपनी व्यवस्था के अनुरूप पुलिसकर्मियों को साप्ताहिक अवकाश देना सुनिश्चित करें। साप्ताहिक अवकाश मिलना पुलिसकर्मियों का हक है और इसका लाभ उन्हें मिलना चाहिए।

आईजी ओपी पाल ने गुरुवार को रेंज के सभी पुलिस अधीक्षक की कार्यालय में बैठक बुलाई थी। उन्होंने पुलिस अधीक्षकों से कहा कि अगर जिले में सही पुलिसिंग करनी है तो छत्तीसगढ़ शासन के मुखिया भूपेश बघेल और पुलिस महानिदेशक अशोक जुनेजा से मिले निर्देशों के तहत पुलिसिंग करें। सामुदायिक पुलिसिंग को बढ़ावा देने की बात कहते हुए उन्होंने कहा कि हार्ड पुलिसिंग के साथ सॉफ्ट पुलिसिंग को समायोजित करें। पुलिस और जनता के मध्य संबंध मधुर हों। ठीक इसके विपरीत गुण्डे और असामाजिक तत्वों पर नकेल कसें। इस बात का ध्यान रखा जाये कि, थाने में आने वाले फरियादी को परेशान न होना पड़े।

बैठक में दुर्ग के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बद्री नारायण मीणा, राजनांदगांव के पुलिस अधीक्षक डी. श्रवण, बालोद के पुलिस अधीक्षक सदानंद कुमार, कबीरधाम के पुलिस अधीक्षक मोहित गर्ग एवं बेमेतरा के पुलिस अधीक्षक अरविंद कुजूर उपस्थित थे।

नक्सल मूवमेंट पर भी की चर्चा

पुलिस महानिरीक्षक ओपी पाल ने राजनांदगांव, कबीरधाम एवं बालोद के पुलिस अधीक्षकों से नक्सल मूवमेंट एवं नक्सली क्षेत्रों में पुलिस मूवमेंट पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि, नक्सल क्षेत्र में कार्यरत पुलिस एवं सुरक्षा बल के बीच आपसी समन्वय बनाने की बात कही।

बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं पर जताई चिंता

आईजी ने बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं पर भी चिंता जाहिर की। उन्होंने कहा कि सभी पुलिस अधीक्षक अपने-अपने जिलों में घटनाओं पर कमी लाने का प्रयास करें। उन्होंने कहा कि मादक पदार्थों की तस्करी पर भी रोक लगाने के लिए सीमावर्ती क्षेत्रों में पुलिस गश्त बढ़ाएं। इस बात का भी ध्यान रखा जाये कि, सीमावर्ती राज्यों से छत्तीसगढ़ में धान की आवक न हो।

खबरें और भी हैं...