आज मतदान, सुबह 8 से शाम 5 बजे तक:जहां चुनाव, वहां सरकारी अवकाश; मतदान केंद्रों में जाएं तो इन बातों का जरूर ध्यान रखें, मतदाता पर्ची के साथ17 प्रकार के पहचान पत्र मान्य

भिलाई5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले के भिलाई, रिसाली, भिलाई-चरोदा निगम और जामुल पालिका में 20 दिसंबर को सुबह 8 से शाम 5 बजे तक वार्ड पार्षद के लिए मतदान होगा। 170 वार्डों के लिए 716 प्रत्याशी मैदान में हैं। इनमें कांग्रेस और भाजपा के 339 प्रत्याशी मैदान में हैं। वार्ड-19 में एक निर्दलीय को बीजेपी समर्थन दे रही है। इसके अलावा उतई के वार्ड-5 में उपचुनाव हो रहे हैं। 20 को ही इसके लिए मतदान होगा।

रविवार को चारों निकायों से मतदान दलों की रवानगी हुई। 732 दल को मतदान केंद्रों के लिए रवाना किया गया। इसमें हर दल में पीठासीन अधिकारी सहित 4 सदस्य हैं। मतदाताओं को इस बार मतदाता फोटोयुक्त पर्ची सीधे राज्य निर्वाचन आयोग की वेबसाइट से भी मिल सकेगी। फोटोयुक्त पर्ची डाउनलोड कर प्रिंट भी तत्काल निकालकर इससे वोट डाल सकेंगे। पहचान के लिए 17 प्रकार के पहचान पत्र को भी मान्य किया गया है। मतदान के लिए स्थानीय निकायों में सरकारी अवकाश घोषित किया गया है। वोटिंग के दौरान आप याद रखे कि कोरोनाकाल में आपकी मदद किसने की।

सेक्टर-7 स्थित कल्याण कॉलेज जहां मतदान दल की रवानगी से पहले भीड़ जुटी, मतदान दल सामग्री वितरण के दौरान अपनी बारी और सामान वितरण के लिए रविवार की दोपहर 3 बजे तक जूझते रहे।
सेक्टर-7 स्थित कल्याण कॉलेज जहां मतदान दल की रवानगी से पहले भीड़ जुटी, मतदान दल सामग्री वितरण के दौरान अपनी बारी और सामान वितरण के लिए रविवार की दोपहर 3 बजे तक जूझते रहे।

गुलाबी रंग के बैलेट पेपर में प्रत्याशियों के नाम
मतदाता के पास मतदाता पर्ची नहीं है तो वे मतदान केंद्र में मौजूद बीएलओ से संपर्क कर सकते हैं। अपना नाम, वार्ड और एरिया बताकर मतदाता सूची में नाम की जानकारी ले सकते हैं। बीएलओ मतदाता पर्ची बनाकर देगा। इसे लेकर मतदान कक्ष में जाना होगा। यहां पीठासीन अधिकारी और मतदान अधिकारी क्रमांक 1,2 व 3 मिलेंगे। उन्हे मतदाता पर्ची दिखाना है। भीतर जाते ही मतदान अधिकारी क्रमांक एक मतदाता सूची से मिलान कर टिक लगाएंगा। दूसरा अधिकारी गुलाबी कलर का बैलेट पेपर देगा। तीसरा अधिकारी अमिट स्याही लगाकर वोट दे सकेगा।

वोट डालने से पहले याद रखें कौन संवेदनशील रहे
इस बार आप यदि वोट डालने जाएं तो इस बात का जरूर ध्यान रखें कि आपके लिए कौन ज्यादा संवेदनशील रहा। पिछले 5 सालों में किसने कौन सा काम किया। वार्ड विकास में उनका क्या योगदान रहा। कोरोनाकाल के दौरान कौन सा नेता और जनप्रतिनिधि ज्यादा संवेदनशील रहा। किसने िस प्रकार की मदद जनता और मतदाता तक पहुंचाई। इसके अलावा प्रत्याशियों का स्वयं आकलन करें। इसके आधार पर अपना बहुमूल्य वोट दें। ताकि एक बेहतर शहर सरकार और वार्ड का पार्षद आप चुन सकें। ताकि आपके क्षेत्र व आम जनता का विकास हो सके।

वोटर सर्च में खोजें अपना नाम

  • मतदाता अपना नाम राज्य निर्वाचन आयोग की वेबसाइट www.cgsec.gov.in पर कर सकते हैं। वोटर सर्च आप्शन में जाकर अपने जिले का चयन करें। यहां से मतदान पर्ची निकाली जा सकती है।
  • विधानसभा चुनाव से अलग है मतदाता सूची -मतदाता इस बात का विशेष ध्यान रखें कि निकाय की मतदाता सूची अलग है। यह विधानसभा व लोकसभा चुनाव के दौरान तैयार सूची से अलग है। इसमें किसी का नाम छूटा भी हो सकता है।
  • हर दो घंटे में मतदान की स्थित की मिलेगी निर्वाचन की वेबसाइट में जानकारी।
  • स्वास्थ्य परीक्षण के भी केंद्रों में इंतजाम। प्रत्येक केंद्र में एक स्वास्थ्य कर्मी की ड्यूटी लगाई गई है।
  • मतदान केंद्र के 100 मीटर के दायरे में किसी भी प्रत्याशी का पंडाल नहीं लगेगा। इससे ज्यादा दूरी में प्रत्याशी के दो एजेंट बैठ सकेंगे।

प्रत्याशियों की स्थिति

युवा

  • 206 उम्मीदवार पहली बार चुनाव लड़ रहे, इसमें 80 प्रतिशत से ज्यादा युवा हैं
  • भाजपा और कांग्रेस ने इस बार 25 प्रतिशत तक युवा चेहरों पर भरोसा किया है, उन्हें मैदान में उतारा है।

महिला

  • 170 वार्डों में भाजपा और कांग्रेस की 125 महिला प्रत्याशी मैदान में है।
  • दोनों राजनीतिक पार्टियों सहित अन्य को मिलाकर करीब 312 महिलाएं इस बार वार्ड चुनाव लड़ रही हैं।

अनुभवी

  • चारों निकायों में 96 प्रत्याशी ऐसे हैं, जो पहले भी वार्डों के पार्षद रह चुके हैं।
  • 131 प्रत्याशी ऐसे हैं, जो पहले भी चुनाव लड़ चुके हैं, इसके अलावा लंबे समय से राजनीतिक संगठनों से जुड़े हुए हैं।

यहां करें शिकायत

  • पुलिस सहायता केंद्र: 100, 2283151
  • चुनावी कंट्रोल रूम : 0788,2323137

टाउनशिप में हर बार कम वोटिंग
टाउनशिप के 23 वार्डों में हर बार कम मतदान, पिछली बार 40.28 फीसदी ने दिया वोट। टाउनशिप एरिया में हर बार मतदान का प्रतिशत दूसरे इलाकों की तुलना में हमेशा से कम रहा है। इसके चलते वर्ष 2015 के चुनावों में बीएसपी के नॉन वर्क एरिया के कर्मचारियों के लिए मतदान के दिन अवकाश की शुरुआत हुई। बावजूद इसके टाउनशिप के 23 वार्डों में 40.28 फीसदी मतदान हुआ।

खबरें और भी हैं...