पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आत्महत्या का मामला:पत्नी और बेटा घर से बाहर गए अधिवक्ता ने टेलीफोन तार गले में कसकर खुदकुशी की

भिलाई13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पचरीपारा इलाके में मंगलवार की सुबह 11 बजे 60 वर्षीय सीनियर एडवोकेट राम नारायण देवांगन ने टेलीफोन की तार से अपने ऑफिस में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। एडवोकेट ने घर पर ही अपना ऑफिस बना रखा था। घटना के वक्त उनकी पत्नी वसुंधरा और बेटा प्रांजल सब्जी खरीदने के लिए मार्केट गए थे। बेटी अपने कमरे में थी।

पत्नी और बेटा मार्केट से लौटने के बाद किसी काम से फिर बाहर चले गए। इसके बाद जब दोनों लौटे और वकील के ऑफिस गए तो घटना का पता चला। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा किया। पीएम कराने के बाद परिजन को सौंप दिया। डीएसपी राजेश बागड़े ने बताया कि अधिवक्ता राम नारायण देवांगन अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ रहते थे।

बेटा नागपुर में सॉफ्टवेयर इंजीनियर है। बेटी भी पढ़ाई कर रही है। बेटा और पत्नी घर पहुंचे तो वकील को फांसी के फंदे पर लटका देखा। वकील ने टेलीफोन की तार से गर्दन कस लिया था। प्राथमिक तौर पर वकील के आत्महत्या करने की वजह का पता नहीं चल पाया है। जांच जारी है।

खबरें और भी हैं...