पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भाजपा पार्षद भौतिक सत्यापन कराने में जुटे:फर्जी दस्तावेज के सहारे 1.82 करोड़ का टेंडर

डोंगरगढ़22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • डामरीकरण के लिए ठेके को लेकर चल रहा विवाद

नगर में डामरीकरण के लिए ठेके को लेकर चल रहा विवाद अब और जोर पकड़ने लगा है। आरोप है कि जिस ठेकेदार को डामरीकरण का काम दिया गया है, उसके पास डामर प्लांट तक नहीं हैं। भाजपा पार्षदों ने अब इस ठेकेदार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उक्त ठेकेदार का डामर प्लांट नहीं होने के बाद भी एक करोड़ 82 लाख रुपए का ठेका नियम विपरीत दे दिया है।

इधर मामले में अब भाजपा पार्षद डामरीकरण कार्य का भौतिक सत्यापन चाह रहे हैं। नगर में चल रहे निर्माण कार्यों में गड़बड़ी पाए जाने पर ठेकेदार संतोष सूरी को पालिका ने पूर्व में भी अपात्र घोषित कर दिया था। लेकिन अब एक करोड़ 82 लाख का काम भतीजे अभिजीत को दे दिया गया। इस ठेके के लिए डामर प्लांट का होना जरूरी है। लेकिन ठेकेदार के पास खुद का प्लांट नहीं है और उसने फर्जी दस्तावेज लगाकर काम हासिल किया है।

ठेकेदार ने डामर प्लांट किसी दूसरे ठेकेदार से लीज पर लिया है, लेकिन यह भी नियम विरुद्ध है क्योंकि एक ही ठेकेदार डामर प्लांट का उपयोग ठेका लेने के समय कर सकता है। सड़क का निर्माण एस्टीमेट के हिसाब से नहीं होने का भी आरोप है। साढ़े 6 इंच मोटाई के स्थान पर मात्र साढ़े 3 इंच की सड़क बन रही है। रोलर के उपयोग में भी गड़बड़ी की जा रही है। भौतिक सत्यापन कराएं- छाबड़ा: नगर पालिका में नेता प्रतिपक्ष अमित छाबड़ा सहित भाजपा पार्षद दल ने ठेकेदार को भुगतान करने के पहले भौतिक सत्यापन कराए जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि पूरे काम का पहले भौतिक सत्यापन हो। इसके बाद ही राशि जारी की जाए।

खबरें और भी हैं...