पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चलाया अभियान:गोद लेने वाली मौसी मां की कोरोना से हुई मौत तो मरीजों की मदद करने में जुटा बेटा

राजनांदगांव19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • युवाओं की टीम के साथ पूरे राज्य में कोरोना के मरीजों की सेवा कर रहे, ऑक्सीजन सिलेंडर, एंबुलेंस से लेकर सूखा राशन पहुंचाया, अब वैक्सीन लगवाने के लिए लोगों को कर रहे जागरूक

बालोद जिले के डौंडीलोहारा के रहने वाले दीपक थवानी ने राजनांदगांव के अलावा बालोद, धमतरी और अन्य जिलों में मदद की मुहिम छेड़ी है। इसके लिए भावना फाउंडेशन भी बनाया गया है। राजनांदगांव में समाजसेवी महावीर संचेती सहित सेवाभावी युवाओं की टीम के सहारे ये लोगों की सेवा कर रहे हैं। इसके तहत कई लोगों को अब तक मदद भी पहुंचाई जा चुकी है।

चाहे एंबुलेंस की बात हो या फिर ऑक्सीजन सिलेंडर और सूखा राशन। हर तरह की मदद कोरोना प्रभावित या कंटेनमेंट जोन में रहने वाले लोगों को की जा रही है। दीपक ने मदद की ये मुहिम अपनी गोद लेने वाली मां (मौसी) संगीता बख्तानी निवासी धमतरी की कोरोना से 8 मार्च को मौत के बाद शुरू की। उनकी गोद लेने वाली मौसी मां धमतरी में रहती थी। जहां वह कोरोना का शिकार हुई, उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। लेकिन उनकी जान नहीं बच पाई और तभी से दीपक ने तय किया कि वह कोरोना पीड़ितों की मदद की मुहिम चलाएंगे। लोगों की जान बचाने की कोशिश करेंगे। तब से लेकर उनकी मुहिम जारी है।

वर्तमान में वे डौंडीलोहारा में रहते हैं। धमतरी में भी वे अपने गोद लेने वाली मौसी मां के साथ रहते थे। अभी वे लोहारा में अपनी असली मां शारदा थवानी के साथ रहते हैं। उनके पिता व मौसा दोनों का निधन हो चुका है। दरअसल में उनकी मौसी का कोई बच्चा नहीं था। तो बचपन से ही उनकी मौसी ने उन्हें गोद लेकर पालन-पोषण किया था। उनके जाने के बाद उनकी ममता का मान बढ़ाने के लिए और लोगों की जान बचाने के लिए भावना फाउंडेशन के जरिए कोरोनाकाल में जरूरतमंद लोगों की मदद का सिलसिला जारी है।

प्रशासन के सहयोग के लिए सभी आगे आ रहे हैं
भावना फाउंडेशन ग्रुप के वॉलिंटियर पूरे छत्तीसगढ़ में अपनी सेवा दे रहे हैं। मरीजों के लिए हॉस्पिटल और उनको दवा दिलाने में मदद कर रहे, 500 से अधिक वॉलिंटियर टीम में लड़कियां व महिलाएं शिक्षक साथी भी हैं। सब काम मुफ्त में करते हैं। चाहे कोरोना मरीज को ऑक्सीजन सिलेंडर की जरूरत है या एंबुलेस या किसी गरीब को राशन की जरूरत हो। फाउंडेशन बालोद, राजनांदगांव, धमतरी जिले में ही नहीं बल्कि छत्तीसगढ़ के 9 जिले में 500 से अधिक वॉलिंटियर अपनी सेवा दे रहे हैं।

यूपी तक पहुंचाई मदद ऑक्सीजन और दवा भी दी
दीपक ने बताया कि अपनी टीम के सभी साथियों की मदद से कोरोना मरीजों की हर तरह से मुफ्त में मदद कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ के बालोद, राजनांदगांव, धमतरी, जशपुर, अम्बिकापुर, बस्तर और इसके अंदरूनी इलाके में भी कोरोना मरीजों की मदद कर रहे हैं। उत्तरप्रदेश में भी कई मरीजों के लिए ऑक्सीजन और दवाई की मदद की। कोयम्बटूर में भी वे जरूरतमंद लोगों की मदद कर रहे। दीपक ने बताया कि कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर टीका तिहार और मरीजों के लिए द्वार स्वास्थ्य मिशन चला रहे हैं।

जरूरतमंद लाेगों को टैक्सी एंबुलेंस भी मुफ्त में दे रहे
फाउंडेशन ग्रुप का कोरोना मरीजों के लिए टैक्सी एंबुलेंस मुफ्त में पूरे बालोद और राजनांदगांव जिले में संचालित है। कहीं से भी कोई फोन करता है तो एंबुलेंस पहुंच जाती है। जिन लोगों के पास साधन नहीं है। उनका सहयोग कर हॉस्पिटल तक मरीजों को पहुंचा रहे हैं। अभी तक 22 गंभीर मरीजों के साथ- साथ अन्य 17 मरीजों को राजनांदगांव और रायपुर हॉस्पिटल तक ले गए है। मानपुर, मोहला सुदूर इलाकों से भी मरीजों को निशुल्क हॉस्पिटल लेकर गए हैं। एंबुलेंस के लिए दीपक के मोबाइल 9399239210 पर संपर्क कर सकते हैं।

खबरें और भी हैं...