पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कलेक्टर से हुई शिकायत, अनुकंपा नियुक्ति का मामला विवादों में:फर्जी नियुक्ति के बाद अब कार्रवाई से बचने आदेश रद्द कर रहे

राजनांदगांव2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शिक्षा विभाग में अनुकंपा नियुक्ति का मामला विवादों में है। सीसीटीवी फुटेज जब्त करने और प्रकरणों की जांच हो जाने के बाद एक और शिकायत सामने आई है। छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा के जिला अध्यक्ष प्रेमनारायण वर्मा ने आरोप लगाते हुए कलेक्टर के पास शिकायत की है कि डीईओ ने दो लोगों को फर्जी तरीके से नियुक्ति आदेश थमाया और अब बाद में आदेश जारी कर नियुक्ति को रद्द कर दिया। शिकायतकर्ता ने बताया कि पूर्व में भी हुई शिकायत के बाद जांच अधिकारी के समक्ष बयान दिया गया था कि अनुकंपा नियुक्ति में गड़बड़ी की गई है। इस आधार पर जांच टीम ने डीईओ दफ्तर से सीसीटीवी कैमरे का फुटेज जब्त किया था पर इसमें डाटा डिलीट कर दिए जाने की वजह से गड़बड़ी उजागर नहीं हुई है। लगातार मांग कर रहे हैं कि डाटा रिकवर किया जाएगा।

इनकी भर्ती पर सवाल
शिकायतकर्ता के अनुसार गोविंद पिता स्व रामचंद्र तारम की नियुक्ति 2 जून को दी गई। लेकिन अब इसे निरस्त कर दिया गया है। वहीं डोगेन्द्र पिता स्व. दुदर्शन लाल देवांगन की नियुक्ति भी फर्जी तरीके से किया गया था, जिसमें गुपचुप तरीके से निरस्त कर दी गई है।

लगातार शिकायत की
वर्मा ने कलेक्टर को लिखित रूप में बताया है कि नियुक्ति करने के दौरान दस्तावेजों की जांच क्यों नहीं की गई? अब जब लगातार शिकायतें सामने आ रही है तब नियुक्ति के प्रकरण को निरस्त किया जा रहा है। कैमरे का डीवीआर की फुटेज रिकवरी कराई जाए।

खबरें और भी हैं...