पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अफसर दफ्तर तक सीमित:दिल्ली की टीम के लौटते ही कंटेनमेंट जोन से हट गए बेरिकेड्स, सर्वे टीम भी नदारद

राजनांदगांवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • शहर के 10 हिस्से को कंटेनमेंट जोन तो घोषित किया पर दूसरे दिन भूल गए

जिला प्रशासन ने 20 अक्टूबर को आदेश जारी कर शहर के 10 हिस्से को कंटेनमेंट जोन घोषित किया। कलेक्टर ने कहा कि इन क्षेत्रों में कोरोना के मरीज लगातार सामने आ रहे हैं। इसलिए क्षेत्रों को कंटेनमेंट जोन बनाकर बेरिकेड्स लगा दिए गए थे। लोगों की आवाजाही बंद कर दी गई थी। यहां तक नियम है कि संक्रमित मरीज के घर से 200 मीटर के दायरे में घेराबंदी होगी पर यहां पूरे वार्ड को घेरे के दायरे में ला दिया गया था। प्रशासन ने भी केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की टीम के लौटते ही इन कंटेनमेंट एरिया को ही भूला दिया है। इन क्षेत्रों से बेरिकेड्स हट गए हैं। भास्कर टीम ने इन क्षेत्रों में दस्तक दी तो पता चला कि 20 अक्टूबर को कंटेनमेंट जोन घोषित हुआ। नगर निगम की टीम ने सख्ती दिखाते हुए इन क्षेत्रों के प्रमुख चौक-चौराहों में ही बेरिकेड्स लगाए। यह तक नहीं देखा कि संक्रमित मरीज का घर कहां पर है और जिस जगह पर बेरिकेड्स लगा रहे हैं उसकी दूरी 200 मीटर के दायरे में है या इससे कहीं ज्यादा है।

पहले दिन दिखाई सख्ती
निगम की टीम ने चिखली क्षेत्र से प्यारेलाल चौक के पास बेरिकेड्स लगा दिए थे पर अफसरों ने यह भी नहीं देखा कि आसपास में संक्रमित मरीज कहां रहते हैं और बेरिकेड्स की दूरी क्या है। जिस चौक पर बेरिकेड्स लगाए गए वहां से ढाबा सहित दूसरे गांव के लोगों की भी आवाजाही होती है। इस चौक पर सब्जी सहित अन्य दैनिक उपयोग की सामग्री बेचने फुटकर व्यवसायी पहंुचते हैं। निगम की टीम ने इन्हें खदेड़ दिया था।

ये क्षेत्र कंटेनमेंट जोन हैं
कोरोना के चलते प्रशासन ने शहर के कौरिनभाठा, बसंतपुर, कैलाश नगर, चिखली, गौरी नगर, विवेकानंद नगर, नंदई चौक,भरकापारा,तुलसीपुर और बजरंगपुर नवागांव को कंटेनमेंट जोन घोषित किया है। इन क्षेत्रों में सर्विलेंस टीम भी नजर नहीं आ रही है जबकि कलेक्टर ने निर्देशित किया है कि संक्रमितों के घर के चारों ओर लगभग 50 घरों में सर्वे कर लक्षण वाले मरीजों का पता लगाया जाएगा।

टीम के जाते ही ढिलाई
केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की टीम गुरुवार को शहर के दौरे पर पहंुची थी। आईएएस ऋचा शर्मा की टीम ने कोविड मरीजों के इलाज की व्यवस्था देखी। टीम के आने के बाद पहले प्रशासन अलर्ट दिखा। बेरिकेड्स के पास पुलिस के दो सिपाहियों की ड्यूटी लगाई गई थी। ये आवाजाही करने वालों पर रोकटोक की खानापूर्ति कर रहे थे पर टीम के लौटने के बाद शुक्रवार को पुलिस टीम नजर नहीं आई। यहां तक बेरिकेड्स हटा दिए गए।

निरीक्षण तक नहीं किया
कलेक्टर ने कंटेनमेंट जोन की निगरानी के लिए स्वास्थ्य विभाग, निगम, पीडब्ल्यूडी, शिक्षा विभाग के अफसरों की ड्यूटी लगाई थी। सर्विलेंस सर्वे, लक्षण वाले मरीजों की सैंपल, बुजुर्गों की जानकारी लेने की जिम्मेदारी दी पर यह सब मितानिनों और मैदानी अमले के भरोसे छोड़ दिया है। निगम आयुक्त चंद्रकांत कौशिक ने बताया कि बेरिकेड्स हटाए जाने की जानकारी नहीं है। कंटेनमेंट जोन में मेडिकल टीम सर्वे कर रही है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थिति तथा समय में तालमेल बिठाकर कार्य करने में सक्षम रहेंगे। माता-पिता तथा बुजुर्गों के प्रति मन में सेवा भाव बना रहेगा। विद्यार्थी तथा युवा अपने अध्ययन तथा कैरियर के प्रति पूरी तरह फोकस ...

और पढ़ें