अंतर्कलह, जनपद अध्यक्ष से मांग रहे इस्तीफा:भाजपा के जपं सदस्य अध्यक्ष को हटाने की जिद पर अड़े, कांग्रेसी बोले- यह भाजपा का अंदरूनी मामला

राजनांदगांव2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जनपद पंचायत राजनांदगांव में भाजपा का बहुमत नहीं है। कांग्रेस के पास एससी जनपद सदस्य नहीं होने की वजह से बहुमत के बाद भी सीट हाथ में नहीं आ पाई थी पर इधर भाजपा के सदस्य बहुमत में नहीं होने के बाद भी अंतर्कलह में फंसे हुए हैं। जनपद अध्यक्ष प्रतीक्षा भंडारी को हटाने की मांग कर जिद पर अड़े हैं।

भाजपा संगठन की ओर से अध्यक्ष से इस्तीफा भी मांगा गया है पर फिलहाल अध्यक्ष ने यह कहते हुए इस्तीफा नहीं सौंपा है कि आखिर किस वजह से सदस्यों में नाराजगी है? इधर अविश्वास प्रस्ताव के सवाल पर कांग्रेस के जनपद उपाध्यक्ष रोहित चंद्राकर का कहना है कि कांग्रेस को इससे कोई लेना देना नहीं हैं। वहीं कांग्रेसी जनपद सदस्यों का यह कहना है कि यह भाजपा का अंदरूनी मामला है और अब कांग्रेसी सदस्य उसे ही साथ देंगे जो कि कांग्रेस का दामन थामेगा।

कांग्रेसी अलग हो गए: खबर है कि पहले जनपद के 23 सदस्यों ने मिलकर अविश्वास प्रस्ताव लाने की रणनीति बनाई थी पर भाजपा के 8 सदस्यों के बीच ही खींचतान शुरू होते ही कांग्रेसी सदस्य अलग हो गए हैं और अब इस बात पर अड़े हैं कि जो भाजपा के जो एससी जनपद सदस्य कांग्रेस में शामिल होंगे तब बात आगे बढ़ेगी? कांग्रेस के जनपद उपाध्यक्ष रोहित चंद्राकर का कहना है कि कांग्रेसी सदस्य भाजपा के इशारे पर काम नहीं करेंगे। कांग्रेस के कृषि सभापति ओमप्रकाश साहू ने बताया कि भाजपा के अंदरूनी मामले से कांग्रेस सदस्यों को कोई लेना-देना नहीं हैं। उल्लेखनीय है कि जनपद अध्यक्ष को हटाने के लिए काफी दिनों से प्रयास किया जा रहा था। कुछ दिनों पूर्व ही विधानसभा कार्यालय मेें इसके लिए जनपद के सदस्यों के साथ पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों की बैठक भी हुई थी।

आप भी जानिए, आखिर क्या कारण है?
कांग्रेसी सदस्यों की इस रणनीति के चलते अविश्वास प्रस्ताव की रणनीति फेल हो सकती है, क्योंकि कांग्रेस के पास सदस्य ज्यादा हैं और भाजपा के पास अध्यक्ष मिलाकर कुल 9 जनपद सदस्य हैं। जनपद अध्यक्ष प्रतीक्षा भंडारी का कहना है कि संगठन ने इस्तीफा मांगा है पर पहले कारण पूछ रहे हैं कि आखिर ऐसी क्या गलती हुई जो इस्तीफा मांगा जा रहा है। भंडारी ने कहा कि पार्टी के हर निर्देश सर्वोपरी है, क्योंकि संगठन ने ही जिम्मेदारी दी है। भाजपा जिला अध्यक्ष मधुसूदन यादव ने बताया कि अभी इस मसले पर संगठन स्तर पर चर्चा चल रही है।

खबरें और भी हैं...