पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मौसम:छाए रहे बादल, कुछ हिस्सों में बूंदाबादी, ठंड हुई गायब

राजनांदगांव2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मौसम विभाग ने जारी किया शीतलहर का अलर्ट, इधर बदली भरे मौसम के बीच उमस ने किया परेशान, तापमान स्थिर रहेगा

प्रदेश में आ रही हवा की दिशा बदलने के साथ ही बारिश की स्थिति निर्मित हो गई है। गुरुवार को पूरे दिन आसमान में बादल छाए रहे, वहीं कुछ हिस्सों में बूंदाबांदी भी हुई। बदली भरे मौसम के बीच तापमान भी 30 डिग्री के पार रहा। इसके चलते गर्मी और उमस की स्थिति बनी रही ।
इधर मौसम विभाग ने 10 जनवरी से तापमान में लगातार गिरावट और शीतलहर चलने का अलर्ट भी जारी किया है। मौसम वैज्ञानिक एचपी चंद्रा ने बताया कि 10 जनवरी से तापमान में लगातार गिरावट होने की प्रबल संभावना बनी हुई है। इसके साथ ठंड भी बढ़ेगी और शीतल लहर की स्थिति बनेगी। यह सिस्टम जिले सहित पूरे प्रदेश में सक्रिय रहेगा। ऐसे में आने वाले दिनों में कड़ाके की ठंड से लोगों को सामना हो सकता है। हालांकि गुरुवार को आसमान में बादल छाए रहने से बारिश की भी संभावना बनी हुई है।
जिले के कुछ हिस्सों में बूंदाबांदी भी हुई है। इसके चलते खरीदी केंद्रों से लेकर किसानों तक की चिंता बढ़ी रही। अगले दो दिन मौसम इसी तरह का रहने वाला है। इसके बाद मौसम में बदलाव होगा।
अधिकतम तापमान 31.5 पर रहा, दिनभर रही उमस : बादल के बीच गुरुवार को जिले का अधिकतम तापमान 31.5 डिग्री दर्ज किया। इसके चलते पूरे दिन उमस और गर्मी की स्थिति बनी रही। खासकर दोपहर में लोगों को उमस से अधिक परेशान होना पड़ा। वहीं न्यूनतम तापमान भी बढ़कर 18 डिग्री पर पहुंच गया। इसके चलते रात में भी ठंड गायब रही।
मौसम विभाग के अनुसार 10 जनवरी तक तापमान स्थिर रहेगा, इसके बाद मौसम में बदलाव के संकेत विभाग ने दिए हंै।

सब्जी फसलों पर भी बुरा असर, टमाटर के गिरे भाव

खराब मौसम का बुरा असर सब्जी फसलों पर भी पड़ रहा है। यही कारण है कि दो दिनों में ही टमाटर के दाम 5 रुपए प्रति किलो तक गिर गए हैं। सप्ताह भर पहले टमाटर 20 से 25 रुपए प्रति किलो में बिक रहा था, लेकिन आसमान में छाए बादल की वजह से फसल को नुकसान की आशंका है, इसके चलते किसान कम दाम में भी अपनी उपज बेचने लगे हैं। दूसरी सब्जियां के दाम में भी गिरावट दर्ज की गई है।

खुले में रखे धान से बढ़ी चिंता, संसाधन भी नहीं
इधर खरीदी केंद्रों में 450 करोड़ से अधिक का धान खुले में रखा हुआ है। ज्यादातर केंद्रों में लिमिट से कहीं अधिक धान मौजूद हैं। इसके चलते सोसाइटी कर्मचारियों की भी परेशानी बढ़ी हुई है। बारिश की आशंका के बीच पूरे दिन धान को सुरक्षित रखने का प्रयास जारी रहा। परिवहन कमजोर होने के चलते कई समितियों में कैप कवर तक पर्याप्त मात्रा में नहीं है। आने वाले दिनों में अगर बारिश की स्थिति बनी तो बड़ा नुकसान हो सकता है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें