रहिए सावधान / खतरा टला नहीं, छुरिया ब्लॉक में मिले 2 पॉजिटिव, जिले में अब कुल 11 संक्रमित

कोराेना के जाल में फंसे मजदूरों की घर वापसी अब भी जारी है। कोराेना के जाल में फंसे मजदूरों की घर वापसी अब भी जारी है।
X
कोराेना के जाल में फंसे मजदूरों की घर वापसी अब भी जारी है।कोराेना के जाल में फंसे मजदूरों की घर वापसी अब भी जारी है।

  • बागनदी व गांव के क्वारेंटाइन सेंटरों से लिए गए सैंपल, रिपोर्ट आने के बाद स्थिति स्पष्ट होगी
  • नए मामले आते ही 3700 लोगों की जांच हुई, 3200 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आने से मिली राहत
  • गांव के सभी क्वारेंटाइन सेंटरों में बन रही बीमारों की सूची, मेडिकल टीम ने बढ़ाई टेस्ट का दायरा

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

राजनांदगांव. जिले में अब कोरोना के कुल 11 एक्टिव केस हो गए हैं। छुरिया ब्लॉक में कोरोना संक्रमित दो मरीजों की पुष्टि हुई है। दोनों मरीज प्रवासी मजदूर हैं, जो सप्ताहभर पहले ही मुंबई से लौटे थे। दोनों मजदूरों को राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज में शिफ्ट किया गया है। मजदूर सागरगांव के ही स्कूल भवन में क्वारेंटाइन किया गया था। देर शाम ही छुरिया ब्लॉक को ऑरेंज जोन घोषित किया गया था। जिले के ग्रामीण इलाकों में लगातार सामने आ रहे मामलों के बाद दहशत का माहौल है। मजदूरों के संपर्क में रहे लोगों की भी शिफ्टिंग की जा रही है।
अब संक्रमण का खतरा और भी बढ़ गया है। इसे देखते हुए जिले के पांच ब्लाक को ग्रीन से फिर आरेंज जोन में डाल दिया गया है। इधर  सबसे अधिक खतरा बागनदी में तैनात कर्मचारियों और महाराष्ट्र से लौटे मजदूरों से हैं। इनकी करीब 500 रिपोर्ट का इंतजार जिला प्रशासन कर रहा है। इधर हालात बिगड़ने की आशंका के पहले ही कोविड-19 इलाज सेंटर की व्यवस्था दुरुस्त कर ली गई है। शुक्रवार देर शाम शासन ने सूची जारी की। इसमें जिले के मोहला, घुमका, छुरिया, डोंगरगांव और डाेंगरगढ़ ब्लाक को ऑरेंज जोन घोषित किया गया है। शेष ब्लाक ग्रीन जोन में ही रहेंगे।
ज्यादातर बीमार या संक्रमितों के संपर्क में 
जिन 500 लोगों के रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है, उनमें से ज्यादातर सर्दी खांसी जैसे लक्षणों से पीड़ित रहे हैं। इसके अलावा बागनदी में पॉजिटिव पाए गए ड्राइवर सहित मजदूरों के संपर्क में रहे हैं। प्राथमिकता के आधार पर इनके सैंपल लिए गए थे। हालांकि अब तक 3200 संदेहियों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इससे जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग ने राहत की सांस ली है। अब अफसरों की नजर अगले 500 रिपोर्ट पर टिकी हुई है।
आज से दो दिन का वीकेंड लॉकडाउन 
इधर संक्रमण से बचाव के लिए जारी आदेश के मुताबिक शनिवार और रविवार को वीकेंड लॉकडाउन भी रहेगा। इस दौरान जरुरी सेवाएं और फल सब्जी की दुकानें खुली रहेंगी। शेष सभी दुकानें सोमवार को ही खुलेंगी। हालाकि वीकेंड लॉकडाउन के पहले एक बार फिर बाजार में स्थिति अनियंत्रित रही। लोगों की भीड़ खरीददारी के लिए जुटती रही। जिसे नियंत्रित करने के लिए पुलिस की टीम भी गश्त करती रही।
बीमार मजदूरों की सूची में तेजी, हिदायत भी दे रहें 
सीएमएचओ डॉ. चौधरी ने बताया कि गांव के सभी क्वारेंटाइन सेंटरों में मेडिकल टीम भेजी जा चुकी हैं। शुक्रवार काे भी पूरे दिन मेडिकल टीम इन सेंटरों में पहुंचती रही। जहां से बीमार मजदूरों की सूची तैयार की जा रही है। डॉ. चौधरी ने बताया कि ऐसे मजदूरों को दूसरे सामान्य मजदूरों से अलग क्वारेंटाइन करने का काम शुरू कर दिया गया है। इसके लिए पंचायतों से संपर्क कर गांवों के दूसरे भवनों का इस्तेमाल किया जा रहा है। मजदूरों की आदम अब भी जारी है।
ये राहत भी... संक्रमितों की हालत अभी बेहतर 
इधर मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने भी राहत वाली खबर दी है। प्रबंधन के मुताबिक जिन 9 कोरोना पॉजिटिव मरीजों को इलाज के लिए दाखिल किया गया है, उन सभी की हालत बेहतर है। किसी की भी स्थिति गंभीर नहीं है। इससे उम्मीद की जा रही है कि सभी संक्रमित जल्द ही रिकवर कर लिए जाएंगे। 9 संक्रमितों में केवल एकमात्र महिला की उम्र ही 50 वर्ष है। शेष सभी 8 मजदूर की औसत उम्र 35 साल है। इससे भी इनके जल्द स्वस्थ्य होने की उम्मीद बनी हुई हैं।
कोविड इलाज सेंटर में कैसी है व्यवस्था 
मेडिकल काॅलेज की डीन डाॅ. रेणुका गाहिने ने बताया कि द्वितीय, तृतीय व चतुर्थ तल में कोविड-19 वार्ड है। हर तल में 4 वार्ड है, जिनमें से 2 महिला के लिए और 2 पुरूष वार्ड है। 160 बेड में से 120 बेड हल्के लक्षण के मरीजों, 15 बेड आईसीयू के गंभीर मरीज, 25 बेड कोविड-19 मरीज हाई डिपेन्डेंसी यूनिट में रखा जाएगा। मरीज के निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरा, टू-वे कम्प्यूनिकेशन सिस्टम, हर वार्ड में माइक सिस्टम, टीवी और आरओ वाटर की व्यवस्था की गई है। सीसीटीवी कैमरा के माध्यम से मरीजों की सतत निगरानी की जा रही है। माइक के माध्यम से संचार व्यवस्था बनी रहेगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना