मंदिर परिसर में उत्सव:रानी मंदिर में दीपावली, गौरा व गौरी के साथ हुई गोवर्धन पूजा

राजनांदगांवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दीपावली पर्व पर रानी मंदिर परिसर को सजाया गया था

रियासत कालीन प्राचीन रानी मंदिर छुईखदान में धनतेरस से दीपावली पर्व पर मंदिर परिसर को चारों तरफ से दीपक जलाकर रोशनी से जगमग किए एवं मां लक्ष्मी की विधिवत पूजा-अर्चना की गई। दूसरे दिवस भगवान श्री लक्ष्मी नारायण की पूजा पश्चात गोवर्धन पूजा के अवसर पर अन्नकूट में विभिन्न व्यंजनों का भोग लगाकर प्रसाद वितरण किया गया।

समिति के संरक्षक लाल जेके वैष्णव ने बताया कि रानी मंदिर में छत्तीसगढ़ी धार्मिक सांस्कृतिक पर्व पर भगवान श्री शंकर पार्वती गौरी-गौरा की मिट्टी की मूर्ति को रंग बिरंगे कागज, फूलों से सजाकर महिलाओं के सिर पर रखकर सर्वप्रथम राजपरिवार के सदस्य लतारानी वैष्णव, लाल जितेन्द्र किशोर वैष्णव, शिवेन्द्र किशोर वैष्णव, श्रीधर वैष्णव द्वारा पूजा-अर्चना पश्चात बाजे-गाजे के साथ आतिशबाजी करते गौरा-गौरी गीत की प्रस्तुति दी गई। शोभायात्रा द्वारा नगर भ्रमण के बाद विसर्जन किया गया। ढिपरापारा एवं जमात पारा, कंडारा पारा की महिलाएं शांति निषाद, पार्वती यादव, पुनिता यादव, पुसयी, कमला, संतोषी ममता आदि साथियों ने गीत नृत्य की प्रस्तुति से शोभायात्रा संपन्न हुई।

खबरें और भी हैं...