पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

लापरवाही छोड़ें:जानकारी छिपाकर सैंपल देने में कर रहे देरी, खुद को डाल रहे मुसीबत में

राजनांदगांवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण की रफ्तार सप्ताहभर में कम हुई है। रोज 12 से 13 सौ सैंपल में 200 के भीतर ही मरीज सामने आ रहे हैं। हालांकि यह राहतभरी खबर नहीं है, क्योंकि अब ऐसे मरीज मिल रहे हैं जिनमें कोरोना के गंभीर लक्षण हैं। ऐसे मरीजों को सीधे सांस लेने में परेशानी की शिकायत ज्यादा है। इन्हें होम आइसोलेशन के बजाय सीधे कोविड-19 अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है। डॉक्टर्स का कहना है कि ज्यादातर लोग दूसरी बीमारी से पीड़ित हैं और जानकारी छिपा रहे हैं। लक्षण होने पर सैंपल देने की बजाए बाहरी दवाइयां खाकर संक्रमण को और बढ़ा रहे हैं। इसके चलते ही संक्रमित मरीजों की हालत बिगड़ रही है। जिले में अब तक 7 हजार से ज्यादा लोग कोरोना वायरस के संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। दो माह पहले जो संक्रमित मिल रहे थे उनमें कोई लक्षण ही नहीं दिख रहा था। कोविड केयर सेंटर और होम आइसोलेशन की सुविधा नहीं होने की वजह से ऐसे मरीजों को भी कोविड-19 अस्पताल में भर्ती कर रहे थे। ऐसे मरीजों को 10 दिन के भीतर छुट्‌टी दे दी जा रही थी।

मरीजों के फेफड़े में सूजन ऑक्सीजन लेवल कम
बिना लक्षण वाले मरीज ज्यादा निकलने की वजह से होम आइसोलेशन और कोविड केयर सेंटर बनाए गए ताकि कोविड अस्पताल में बेड की कमी न हो। ऐसे मरीजों को अब कोविड अस्पताल नहीं भेजा जा रहा है। सिर्फ गंभीर लक्षण वाले ही भर्ती किए जा रहे हैं। डॉक्टरों ने बताया कि भर्ती मरीजों में ज्यादातर में फेफड़े में सूजन होने व ऑक्सीजन लेवल कम होने की शिकायतें हैं।

बुजुर्ग अगर बीमार हैं तो सैंपल जरूर दें: सीएमएचओ
सीएमएचओ डॉ. मिथलेश चौधरी ने बताया कि सात माह से कोरोना संक्रमित सामने आ रहे हैं पर अभी जो केस आ रहे हैं वे गंभीर लक्षण वाले हैं। दरअसल लोग सर्दी, खांसी, बुखार व अन्य तकलीफ होने पर सैंपल देने की बजाय घर पर बाहरी दवाइयां खा ले रहे हैं। ऐसे में स्वास्थ्य बिगड़ रहा है। विशेषकर दूसरी बीमारी से पीड़ित और बुजुर्ग अगर बीमार हैं तो सैंपल जरूर दें।

इधर यह हाल, मौत के बाद रिपोर्ट आ रही पॉजिटिव
बसंतपुर अस्पताल में दूसरी बीमारी से पीड़ित लोग गंभीर होने के बाद इलाज कराने पहुंच रहे हैं। ऐसे मरीजों को कैजुअल्टी या फिर आइसोलेशन वार्ड में रखा जा रहा है। गंभीर मरीजों की मौत के बाद सैंपल जांच कराई जा रही है। इनमें से ज्यादातर की रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है। दरअसल लोग संक्रमित होने के बाद भी सैंपल नहीं दे रहे हैं। अस्पताल आने पर सैंपल के प्रोसेस से गुजरना पड़ रहा।

दो लोगों की मौत: कोविड अस्पताल में भर्ती रही एक 70 वर्षीय महिला की शनिवार रात को मौत हो गई। महिला गंडई क्षेत्र की है। बसंतपुर अस्पताल में भर्ती नंदई चौक निवासी व्यक्ति की शनिवार को मौत हुई थी। रविवार को मृतक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- चल रहा कोई पुराना विवाद आज आपसी सूझबूझ से हल हो जाएगा। जिससे रिश्ते दोबारा मधुर हो जाएंगे। अपनी पिछली गलतियों से सीख लेकर वर्तमान को सुधारने हेतु मनन करें और अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करें।...

और पढ़ें