पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टारगेट का 15.5 प्रतिशत ऋण बांट दिया गया:लॉकडाउन के दौरान सहकारी बैंक से 34 हजार 638 किसानों ने लिया 148 करोड़ रुपए का कर्ज; अब 60 हजार किसान शेष

राजनांदगांव18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जिला प्रशासन की ओर से 10 अप्रैल से लॉकडाउन लगाया गया था। इस संकट काल में जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक की ओर से किसानों को 148 करोड़ रुपए का कर्ज वितरण किया गया है। बैंक को 30 सितंबर तक 603 करोड़ रुपए का वितरण किया जाना है पर संकट के बीच 34 हजार 638 किसानों को ऋण वितरण कर राजनांदगांव जिला प्रदेश में नंबर वन पर पहंुच गया।

इस अवधि में टारगेट का 15.5 प्रतिशत ऋण बांट दिया गया है। अब केवल 60 हजार किसान ही ऋण नहीं ले पाए हैं। खरीफ सीजन को देखते हुए इस बार जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक की ओर से सभी ब्रांच में ऋण वितरण करने के लिए दो काउंटर लगाए गए ताकि सामाजिक दूरी बनी रहे और किसान आसानी के साथ ऋण ले सकें। भीड़ न लगे, इसलिए पुलिस बल की भी मदद ली गई। जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के सीईओ सुनील कुमार वर्मा ने बताया कि ऋण वितरण में राजनांदगांव बैंक प्रदेशभर में पहले नंबर पर है।

काउंटर बढ़ाए गए
सुबह 10 से शाम साढ़े 5 बजे तक कैश काउंटर खोलकर ऋण वितरण किए जाने से किसानों को राहत मिल पाई। लॉकडाउन के बीच किसान आर्थिक तंगी के दौर से भी गुजर रहे थे। ऐसे समय में ऋण मिल जाने से किसानों को खरीफ की तैयारी के लिए खाद-बीज खरीदने में भी तकलीफ नहीं हुई। उच्चाधिकारियों ने 30 जून तक ऋण वितरण डबल करने निर्देश दिए हैं। बैंकों में कोरोना प्रोटोकाॅल का पालन करा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...