गज का आतंक:राजाडेरा से हिड़कोटोला की ओर बढ़ा हाथियों का दल

राजनांदगांवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लंबे समय से एक ही रूट पर हाथियों की आवाजाही से परेशान हैं ग्रामीण, फसल को नुकसान

मोहला क्षेत्र के राजाडेरा के जंगल में लंबे समय से हाथियों के दल का जमावड़ा होने से ग्रामीण परेशान हैं। हाथी दल ने बुधवार रात को राजाडेरा से 10 किलोमीटर दूर िहड़कोटोला-परवीडीह तक मूवमेंट किया है। राजाडेरा के जंगल से हाथियों के आगे बढ़ने से ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है। आशंका है कि हाथी फिर से उसी रूट पर जा सकते हैं जहां से वे वापस लौटे थे।

खबर है कि परेशान ग्रामीण अब हाथियों को मूव कराने के लिए दूर से ही शोर-शराबा करने लगे हैं, क्योंकि खेती चौपट हो रही है और वन विभाग की ओर से अभी केवल नुकसान का प्रकरण बनाया जा रहा है। तत्काल मुआवजा राशि नहीं मिल रही। हाथियों के दल में 22 से 25 सदस्य हैं। ये जंगली हाथी बालोद जिले के डौंडी ब्लॉक के जंगल से मूव करते हुए राजनांदगांव तक पहुंचे हैं। यहां वे 22 दिनों से जमे हुए हैं। कभी राजाडेरा तो कभी महाराष्ट्र बॉर्डर तक मूव कर रहे हैं।

अब मूव कर रहे
फॉरेस्ट की टीम को पहले कभी इस तरह मूवमेंट पर नजर नहीं रखनी पड़ रही थी पर हाथी दल के चलते नक्सल प्रभावित गांवों में भी रात रुकना पड़ रहा है। हाधी धान की फसल को नुकसान पहुंचा रहे हैं। रेंजर गोपाल यादव ने बताया कि हाथी कुछ दूर आगे बढ़े हैं। लगता है कि अब मूवमेंट करेंगे।

खबरें और भी हैं...