लॉकडाउन का असर / पहली बार घर पर ही पढ़ेंगे ईद की नमाज

X

  • बाजार में भी नहीं दिखेगी रौनक, दूज के चांद के साथ कल मनेगा त्योहार

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

राजनांदगांव. कोरोना वायरस ने ईद पर्व को भी प्रभावित कर दिया है। पहली बार ईद की नमाज मुस्लिम समाज घर पर ही अता करेंगे। वहीं घरों से ही एक दूसरे को ईद की बधाई देंगे। रविवार को दूज के चांद के दीदार के बाद सोमवार को ईद उल फितर का पर्व मनेगा। 
गोलबाजार मस्जिद के अध्यक्ष जावेद अंसारी ने बताया कि छग राज्य वक्फ बोर्ड की गाइडलाइन के मुताबिक ही ईद मनेगी। संक्रमण के खतरे को देखते हुए समाज के सदस्यों को पहले ही िनर्देशित कर दिया गया है। ईदगाह और मस्जिदों में नमाज नहीं होगी। सभी सदस्य अपने घर पर ही नमाज पढ़ेंगे। संक्रमण के खतरे को देखते हुए समाज के सदस्य एक जगह एकत्रित भी नहीं होंगे। सभी अपने-अपने घरों से ही पर्व मनाएंगे और घरों से ही एक दूसरे को बधाई देंगे। अंसारी ने बताया कि ऐसा पहली बार हो रहा है जब ईद में सामूहिक नमाज नहीं हो पा रही है। ईद के पहले दो दिन का वीकेंड लॉकडाउन लागू है। इसके चलते शहर की सभी दुकानें बंद है। ऐसा पहली बार हो रहा है जब इस प्रमुख त्योहार के पहले बाजार में भी रौनक नहीं दिख रही है। कोरोना संक्रमण के खतरे ने त्योहार के उत्साह को फीका कर दिया है। हालांकि दो दिन के लॉकडाउन को देखते हुए जरूरी सामानों की खरीदी शुक्रवार को ही ज्यादातर लोगों ने कर ली थी, लेकिन कोरोना के असर के चलते अन्य सालों की तुलना में कपड़ों से लेकर दूसरी सामग्री की बिक्री न के बराबर ही रही। मस्जिद अध्यक्ष अंसारी ने बताया कि शनिवार को एकम के चांद का इंतजार बना हुआ था, लेकिन देर शाम तक चांद दिखने की कोई पुष्टि नहीं हो सकी। इसके चलते दूज को चांद दिखने के बाद सोमवार को ईद का पर्व मनाया जाएगा। चांद के दीदार के बाद पर्व की अधिकृत घोषणा की जाएगी। इसके बाद पूरे जिले में ईद मनेगी।
न सामूहिक इफ्तार हुई न ही तकरीरें हो सकी 
रमजान के दौरान हर साल मस्जिदों में सामूहिक इफ्तार का भी आयोजन होता रहा है। राजनीतिक दलों से लेकर समाज के प्रमुख भी इफ्तार का आयोजन करते रहे हैं, लेकिन इस साल किसी तरह का सामूहिक इफ्तार भी नहीं हो सका। कोरोना के प्रकोप की वजह से मस्जिदों में रमजान के माह में तकरीरें भी नहीं हुई। रमजान की सभी प्रमुख तिथियां सादगी पूर्ण ढंग से ही मनी। समाज के सदस्य मस्जिदों में भी एकत्रित नहीं हो सके।
घर पर रहकर मनाएं त्योहार: परवेज अहमद
भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष परवेज अहमद पप्पू ने कहा है कि ईद अमन शांति और भाईचारे का त्योहार है। खुशी के साथ इस देश के कोने-कोने में नए-नए तरीके से मनाते हैं पर इस साल पूरी दुनिया व देश कोरोना वायरस के कारण गंभीर स्थिति से गुजर रहा है। इसलिए आप सभी से गुजारिश है कि प्रेम व भाईचारे के इस त्योहार को इस वर्ष सादगी से मनाएं। सोशल डिस्टेंस बनाते हुए शासन-प्रशासन की गाइडलाइन का पालन करें। घर पर ही ईद मनाएं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना