किसान परे:मंडी टैक्स का विरोध जारी, नहीं हुई खरीदी

राजनांदगांवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मंडी टैक्स में की गई 5 प्रतिशत की बढ़ोतरी के विरोध में व्यापारियों ने बसंतपुर स्थित कृषि उपज मंडी में नीलामी बंद कर दी है। शनिवार से विरोध शुरू किया गया है। सोमवार को जिले के व्यापारी प्रदेश स्तर के व्यापारिक संगठनों के पदाधिकारियों के नेतृत्व में कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे से मुलाकात की। इस दौरान कृषि मंत्री को मांग पत्र सौंपा और मंडी टैक्स कम करने की मांग रखी।

मंत्री ने आश्वासन दिया है कि मुख्यमंत्री से चर्चा करने के बाद कोई निर्णय लेंगे। व्यापारियों का प्रतिनिधि मंडल मुख्यमंत्री से भी मुलाकात करने गए थे पर व्यस्तता के चलते समय नहीं मिल पाया। व्यापारियों का कहना है कि मंडी टैक्स में की गई बढ़ोतरी के चलते भारी नुकसान उठाना पड़ेगा। इसलिए निर्णय लिया गया है कि जब तक टैक्स कम नहीं किया जाएगा, तब तक नीलामी में हिस्सा नहीं लेंगे।

मांग पत्र सौंपा: मंडी व्यापारी संघ के विकास अग्रवाल पम्पी ने बताया कि व्यापारियों के प्रतिनिधि मंडल ने कृषि मंत्री को मांग पत्र सौंप दिया है। वहीं विरोध की जानकारी भी दे दी है। मंत्री ने मुख्यमंत्री से चर्चा करने की बात कही है। पम्पी ने बताया कि टैक्स कम होने के बाद ही नीलामी में हिस्सा लेंगे।

रोजी-रोटी का संकट
इधर नीलामी नहीं होने से उन किसानों की परेशानी बढ़ गई है जो कि जल्द धान बेचकर परिवार की जरूरत पूरा करना चाह रहे थे। मंडी में 4 हजार कट्टा धान जाम पड़ा हुआ है। नीलामी ठप होने से मंडी में मजदूरी कर जीवन यापन करने वाले श्रमिकों के सामने भी रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया है।

खबरें और भी हैं...