बढ़ी परेशानी / मक्का उत्पादक किसानों की संख्या हजारों में लेकिन पंजीयन सिर्फ 75 का

Number of farmers producing maize in thousands but registration of only 75
X
Number of farmers producing maize in thousands but registration of only 75

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

राजनांदगांव. जिले में मक्का उत्पादन करने वाले किसानों की संख्या हजारों में है। लगभग 2 हजार एकड़ में इसकी खेती होती है पर हैरत की बात यह है कि सोसाइटियों में सिर्फ 75 किसानों का ही पंजीयन हो पाया है। इसलिए शेष सैकड़ों किसान समर्थन मूल्य पर मक्का की बिक्री नहीं कर पा रहे हैं। किसानों का कहना है कि सोसाइटियों की ओर से पंजीयन को लेकर प्रसार-प्रसार नहीं किया गया। 
इस वजह से पंजीयन कराने से वंचित रह गए जबकि मक्का का उत्पादन कर अब भारी नुकसान झेल रहे हैं। भास्कर पड़ताल में यह बात भी सामने आई कि हर साल एक निजी कंपनी की ओर से सरकारी 
दर से अधिक दर पर किसानों से सीधे संपर्क कर मक्का की खरीदी कर ली जाती थी। इसलिए ज्यादातर किसान समर्थन मूल्य पर मक्का बेचने के लिए सामने नहीं आते थे पर इस बार कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से जारी लॉकडाउन की वजह से फूड प्रोसेसिंग यूनिट पर भी असर पड़ा। 
कंपनी ने खरीदी नहीं की: निजी कंपनियों की ओर से मक्का की खरीदी नहीं की गई। इस चक्कर में किसानों ने पंजीयन को लेकर भी ध्यान नहीं दिया। अब कंपनी के पीछे हटते ही किसानों के सामने सरकारी खरीदी के अलावा कोई और ऑप्शन नहीं बच पाया है। अंबागढ़ चौकी क्षेत्र के किसान खूबलाल साहू ने बताया कि सोसाइटी की ओर से पंजीयन को लेकर कभी प्रचार-प्रसार नहीं किया गया। सोसाइटी वाले सिर्फ धान के पंजीयन की ही जानकारी देते रहे हैं और क्षेत्र के किसान धान का पंजीयन कराने सामने आते रहे हैं।
रोज अफसरों के दफ्तर का चक्कर लगा रहे किसान
अब रोज अफसरों के दफ्तर के चक्कर लगा रहे हैं तब बताया जा रहा है कि पंजीयन के कारण बिक्री नहीं कर पाएंगे। किसान रोहित कुमार, चैनसिंग ने बताया कि क्षेत्र के विधायकों से संपर्क कर इस समस्या का निराकरण करने की मांग कर रहे हंै। एक दिन पहले ही पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से मुलाकात की गई। उन्होंने मुख्य सचिव से बात की पर पंजीयन का रोड़ा सामने आ रहा है।
शिकायत लेकर सैकड़ों किसान पहुंचे थे मानपुर 
किसानों ने बताया कि अफसर सिर्फ 75 लोगों के पंजीयन की जानकारी दे रहे हैं, जबकि खरीदी नहीं किए जाने की शिकायत को लेकर 100 से ज्यादा किसान दो दिन पहले मानपुर पहुंचे थे। किसानों ने लिखित में आवेदन देकर जल्द ही छूटे हुए किसानों के उपज की खरीदी शुरू कराने की मांग रखी। किसानों की ओर से ब्लॉक स्तर पर प्रदर्शन भी शुरू कर दिया गया है।
मानपुर में समर्थन मूल्य पर 200 क्विंटल की खरीदी
इधर नागरिक आपूर्ति निगम की ओर से मक्का की खरीदी के लिए जिले में 9 सेंटर बनाए गए हैं। मानपुर, डोंगरगांव, औंधी, भर्रीटोला,ढाढूटोला, खरदी, ढाबा, सीतागांव, मोहला में सेंटर तय किया गया है। अब तक 200 क्विंटल की खरीदी कर ली गई है। समर्थन मूल्य 1760 रुपए निर्धारित किया गया है। मानपुर में ही खरीदी हुई है। नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबंधक एलपी पैकरा ने बताया कि पंजीकृत किसानों का मक्का खरीद रहे हैं। किसानों को समय रहते पंजीयन करा लेना था। शासन के निर्देश का इंतजार कर रहे हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना