पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सुविधा में देरी:कंट्रक्शन साइट पर 30% ही मजदूर, वजह- गांवों से निकलने पर मनाही, कोरोना ने रोक दी रफ्तार

राजनांदगांव8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शहर के ज्यादातर निर्माण कार्य अटके, अमृत मिशन के इंजीनियर भी संक्रमित, पाइप लाइन का विस्तार रुका

कोरोना के बढ़ते संक्रमण ने निर्माण कार्यों की रफ्तार रोक दी है। ज्यादातर कंट्रक्शन साइटों पर जरूरत से मजह 30 फीसदी मजदूर ही मौजूद हैं। इसकी बड़ी वजह गांवों में सख्ती है। मजदूरों को गांव से बाहर निकलने की अनुमति नहीं मिल रही है, इसका सीधा असर निर्माण कार्याें पर पड़ रह है। शहर में अमृत मिशन सबसे बड़ा प्रोजेक्ट है, लेकिन इस प्रोजेक्ट की रफ्तार भी कोरोना की वजह से धीमी पड़ गई है। पहले ही दूसरे राज्यों में लौट चुके मजदूर अब काम पर नहीं आ रहे हैं। इसके बाद अमृत प्रोजेक्ट के इंजीनियर सहित कुछ सुपरवाइजर और स्थानीय मजदूर भी कोरोना से संक्रमित हो गए हैं। इसकी वजह से शहर में पाइप लाइन विस्तार का काम रुक गया है। बूढ़ा सागर सौदर्यीकरण, बायपास में ओवरपास का निर्माण, एजुकेशन हब और दिग्विजय स्टेडियम के अंतिम चरण के कार्य भी अटके हुए हैं। अफसरों के मुताबिक सभी काम काफी धीमी गति से चल रहा है। दूसरे राज्य या शहरों से आने कारीगर भी संक्रमण के खतरे के चलते काम पर नहीं आ रहे हैं। जिसके असर से अब इन काम को पूरा होने में अतिरिक्त समय लगने वाला है।

शहर के इन बड़े प्रोजेक्ट पर सबसे बुरा असर, पूरा होने करना होगा इंतजार
अमृत प्राेजेक्ट:
शहर के हर घर को पानी देने 230 करोड़ रुपए की लागत से प्राेजेक्ट पूरा किया जाना है। ओवरहेड टंकियों का निर्माण 50 फीसदी पूरा हो चुका है। पाइप लाइन का विस्तार सभी वार्डाें में होना है, लेकिन मजदूरों की कमी और कर्मचारियों के संक्रमित होने की वजह से यह अटका हुआ है।

एजुकेशन हब: करीब दो साल पहले एजुकेशन हब की नींव रखी गई थी, 12 करोड़ रुपए की लागत से इसे पूरा किया जाना हैं, लेकिन लॉकडाउन की वजह से इसकी गति भी थम सी गई है। वर्तमान में एजुकेशन हब में कुछ काम जरूर चल रहे हैं। जरूरत के मुताबिक मजदूर नहीं मिलने की वजह काम रफ्तार नहीं पकड़ रही है।

बूढ़ा सागर सौंदर्यीकरण: शहर के बूढ़ा सागर में 16 करोड़ रुपए से सौंदर्यीकरण किया जाना है। इसका काफी काम किया भी जा चुका है। कुछ विशेष निर्माण कार्याें के लिए दूसरे शहरों से कारीगर आने हैं। लेकिन राज्य के कई हिस्सों में लॉकडाउन और संक्रमण के बढ़ते खतरे के चलते ये कारीगर भी नहीं पहुंच पा रहे हैं।

बायपास मेें ओवरपास: फरहद में ओवरपास के निर्माण को चार साल से अधिक समय बीत गया हैं। लॉकडाउन के पहले ही काम ने रफ्तार ली थी, लेकिन अब काम पूरी तरह थम गया है। इस ओवरपास प्राेजेक्ट में ज्यादातर मजदूर दूसरे जिलों के थे, जो लॉकडाउन के दौरान अपने घर लौट चुके हैं।

मजदूरों के काम पर आने के बाद ही रफ्तार तेज होगी
नगर निगम के ईई दीपक जोशी ने बताया कि मजदूरों की कमी और लगातार संक्रमण के नए मामलों के चलते मजदूरों की संख्या 50 फीसदी से भी कम रह गई है। इसके चलते निर्माण कार्याें की गति कम हो गई है। मजदूरों के काम पर आने के बाद ही रफ्तार तेज होगी।

49 हजार मजदूर लौटे पर पाबंदी होने से गांव में ही हैं
जिले में कोरोनाकाल के दौरान 49 हजार मजदूर दूसरे राज्यों से लौटे हैं। इनमें से ज्यादातर मजदूर अब स्थानीय स्तर पर ही काम चाह रहे हैं। शहर सहित ब्लाॅकों में कुछ निर्माण कार्य भी जारी हैं, लेकिन गांाव में लगाई गई पाबंदी के चलते इन मजदूरों का उपयोग निर्माण कार्याें में नहीं हो पा रहा है। जिले के ज्यादातर गांवों में फिलहाल गांव से बाहर आने-जाने की मनाही है। वहीं शहरों में जाकर काम करने वालों को अलग से क्वारेंटाइन किए जाने की मुनादी भी हो चुकी है।

आवास सुविधा भी नहीं मजदूर बाहर फसेंगे ही
मजदूरों के काम पर नहीं आने की दूसरी बड़ी वजह अस्थाई आवास सुविधा नहीं मिलना भी है। शासन ने मजदूरों को कंट्रक्टशन साइट पर ही रहकर काम करने की अनुमति दी है। वहीं गांवों में भी ऐसा ही फैसला लिया गया है, जो मजदूर शहरों में काम के लिए निकलेगा वह रोजाना आना-जाना नहीं कर पाएगा। ज्यादातर कंट्रक्शन साइटों पर मजदूरों के लिए अस्थाई आवास की सुविधा नहीं है। ठेकेदार इसे अतिरिक्त खर्च भी मान रहे हैं। इसलिए मजदूर काम पर नहीं लौट रहे हैं।

शहर में बढ़ते मामलों से छोटे काम भी बंद
शहर के सभी वार्डाें में कोरोना के मामले समाने आ चुके हैं। ऐसे में इन वार्डाें में शुरू होने वाले छोटे काम भी अटके हुए हैं। जिन हिस्सों में कोरोना मरीजों की पुष्टि हो रही है, वहां जाने से मजदूर भी कतरा रहे हैं। ठेकेदार भी मजदूरों से ऐसे हिस्सों में काम कराने का जोखिम नहीं उठा रहे हैं। सड़क, नाली जैसे छोटे-छोटे काम भी बंद है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में रहेगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा। पिछले कुछ समय से चल रही किसी समस्या का समाधान मिलने से राहत मिलेगी। कोई बड़ा निवेश करने के लिए समय उत्तम है। नेगेटिव- परंतु दोपहर बाद परिस...

और पढ़ें