डॉक्टर्स डे पर विशेष / हर पल कोरोना का खतरा पर इलाज में पीछे नहीं हटे हमारे डॉक्टर

Our doctors do not retreat into treatment at the risk of corona every moment
X
Our doctors do not retreat into treatment at the risk of corona every moment

  • शहर के डॉक्टर्स कोरोना महामारी को मात देते हुए दूसरों के इलाज के लिए हमेशा तत्पर, ये कहते हैं कि मरीजों की सेवा ही ईश्वर की सेवा है, इससे बड़ा कार्य और कुछ नहीं

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

राजनांदगांव. कोविड-19 कोरोना वायरस ने पूरे जिले में कहर बरपा रखा है। संक्रमण तेजी से फैल रहा है। ऐसे संकट काल में सबसे ज्यादा रिस्क जोन में हैं तो वे हैं डॉक्टर्स। 
हॉस्पिटल में हर पल कोरोना संक्रमण का खतरा बना हुआ है पर ये अपने कर्तव्य के प्रति इतने अडिग हैं कि इन्हें पीपीई किट की गर्मी तक डिगने नहीं दे रही है। इनमें से कुछ डॉक्टर्स ऐसे हैं जो कि परिवार से लंबे समय से दूर हैं। वहीं कुछ तो रिस्क होने के बाद भी ओपीडी चालू रखे हैं। 
भास्कर ने डॉक्टर्स डे पर इन डॉक्टरों से बातचीत की। डॉक्टरों ने कहा कि मरीजों की सेवा ही ईश्वर की सेवा है। यह वक्त मजबूती के साथ संघर्ष करने की है, क्योंकि यह बुरा वक्त जल्द चला जाएगा और अच्छे दिन जरूर आएंगे। डॉक्टर्स का कहना है कि कोरोना एक वायरस है। इससे बचने के लिए सिर्फ सावधानी ही सबसे बड़ा हथियार है। 

परिवार से दूर रहकर सेवा
मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में पदस्थ डॉ. प्रकाश खुंटे कोविड-19 वार्ड में सेवाएं दे चुके हैं। खुंटे ने उस वक्त सेवाएं दी थीं जब शहर में सिर्फ एक कोरोना संक्रमित सामने आया था और पूरे शहर में लॉकडाउन जारी था। कोविड वार्ड में डॉ. खुंटे ने सेवाएं दी। 21 दिन तक क्वारेंटाइन में भी रहे। परिवार को बिलासपुर शिफ्ट कर दिए हैं। 

संकट में भी किए ऑपरेशन 
मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल के आर्थो डिपार्टमेंट के एचओडी डॉ. राजेश डुलानी ने बताया कि महामारी के दौर में भी हड्‌डी रोग से संबंधित कई मरीज आ रहे हैं। किसी भी मरीज को मायूस नहीं लौटाया गया। आर्थो डिपार्टमेंट की पूरी टीम संकट काल में भी सेवा जारी रखी हुई है। हड्‌डी रोग से संबंधित 8 से 10 ऑपरेशन किए।  

कोरोना को हराकर लौटे  
ईएनटी विशेषज्ञ डॉ. मिथलेश शर्मा तो कोरोना को हराकर मंगलवार को घर लौटे। शर्मा ने बताया कि कोरोना महामारी के बाद भी मरीजों का इलाज जारी रखे हुए थे। लगातार पीपीई किट पहनते थे पर संक्रमण की चपेट में आ गए पर कोरोना के कोई लक्षण नहीं थे। परिवार के सदस्यों की रिपोर्ट भी निगेटिव आई। संक्रमण नहीं फैला। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना