सात लोगों के खिलाफ बलवा दर्ज:खेत चरी से रोकने पर महिला को लोगों ने मारा

मुलमुला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जमीन पर पड़ी वृद्ध महिला, उसे बचाने के लिए संघर्ष करती रिश्तेदार। - Dainik Bhaskar
जमीन पर पड़ी वृद्ध महिला, उसे बचाने के लिए संघर्ष करती रिश्तेदार।

गांव की सरकारी जमीन पर से कब्जा हटाने के लिए ग्रामीणों ने सार्वजनिक रूप से निर्णय लेकर खेतों को मवेशी से चराया। इसी बीच सरकारी जमीन पर कब्जा करने वाली महिला कृष्णाबाई पात्रे ने ग्रामीणों के निर्णय का विरोध करते हुए अपने खेत में मवेशी चराने से मना किया। इससे विवाद बढ़ गया और ग्रामीणों ने उसकी पिटाई कर दी।

महिला की रिपोर्ट पर पुलिस ने सात लोगों के खिलाफ नामजद व 6-7 अन्य लोगोंं के खिलाफ बलवा का मामला दर्ज किया है। पुलिस के अनुसार ग्राम कोनार के ग्रामीणों ने पिछले दिनों सार्वजनिक रूप से बैठक कर गांव की सरकारी जमीन में जिन लोगों ने धान लगाया है उसे चराने का निर्णय लिया क्योंकि अतिक्रमण के कारण गांव के मवेशियों के लिए चारागाह नहीं था। इस निर्णय के अनुसार सभी लोग मवेशी लेकर चराने पहुंचे। बेजा कब्जा करने वाली कृष्णा बाई पात्रे ने विरोध किया। उसने गोदाम के पीछे करीब 4 एकड़ जमीन पर कब्जा किया हुआ है। उसका दावा है कि वह 30 वर्षो से खेती करते आ रही है। खेत पर मवेशी छोड़ दिये उस वक्त पीड़ित महिला अपने खेत पर

निंदाई करवा रही थी। उसने चराने का विरोध किया तो उसके साथ मारपीट कर दी गई। सास पर भीड़ द्वारा हमला करते देखकर वहंी पर काम करवा रहे महिला के परिवार की बिंदु बाई महिला को बचाने के लिए पहुंची। ग्रामीणों ने उस पर भी लाठी डंडा से वार कर दिया। महिला ने बुजुर्ग महिला के बचाव में लाठी चलाई लेकिन वह ग्रामीणों को रोक नहीं सकी। ग्रामीणों की मार से महिला कृष्णा बाई पात्रे गंभीर रूप से घायल हो गई। उसे इलाज के लिए सीएचसी पामगढ़ ले जाया गया। बाद में घायल महिला की रिपोर्ट पर पुलिस ने गांव के राजकुमार कश्यप, लक्ष्मी कश्यप, राजेश कश्यप, विजय कश्यप, सनत कश्यप, जेमा बाई कश्यप ,दुर्गा बाई कश्यप एंव 6 से 7 अन्य के खिलाफ धारा 147, 294, 323, 506 के तहत अपराध दर्ज किया है।

खबरें और भी हैं...