अंदरूनी इलाकों व गांवों में 18-20 घंटे बिजली गुल:बाॅर्डर के गांवों के लोगों को मोबाइल की बैटरी चार्ज कराने जाना पड़ा रहा महाराष्ट्र

अंबागढ़ चौकी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लो वोल्टेज की भी समस्या

बाॅर्डर पर बसे गांवों में निवास करने वाले लाेगों को अपना मोबाइल चार्ज करने के लिए पड़ोसी जिला बालोद व पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र के गांवों में आना-जाना पड़ रहा है। ब्लाॅक के अंदरूनी इलाकों व नक्सल प्रभावित क्षेत्रों के गांवों में घंटों बिजली गुल रहती है। यदि बिजली आई भी तो वोल्टेज इतना कम होता है कि बिजली उपकरण तक नहीं चल पाता।

ब्लाॅक के ग्रामीण क्षेत्रों में लो वोल्टेज व बिजली कटौती से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। घंटों बिजली गुल होना एक-दो महीने से जारी है। इधर सरप्लस राज्य में हो रही पावर कट व लो वोल्टेज की समस्या से विपक्षियों के बैठे बिठाए मुद्दा मिल गया है। कांग्रेस सरकार के खिलाफ लोगों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। ब्लॉक के अंतिम छोर एवं महाराष्ट्र सीमा से लगे ग्राम विचारपुर, मुडपार, टाटेकसा, खैरी पांगरी, केसाल, डुमरघुचा, ठाकुरबांधा, साल्हे, कोरचाटोला, हेमलकोडो, खुर्सीटिकुल, मिरचे, निगमचुवा, ओटेबांधा, कुसुमकसा, साल्हे जलहल, मक्के, चोरपानी, दोढके, देववाडवी, एवं मैदानी इलाकों में आमाटोला, सिंघाभेडी, डोंगरगांव, रंगकठेरा, हज्जूटोला, कहाडकसा, तिरपेमेटा, बिटाल, चिखली, कौडूटोला, सोनसायटोला, मांगाटोला व बालोद जिले से लगे आतरगांव, मोहड, माहुद, मंचादुर आदि गांवो में पिछले एक-दो महीने से लो वोल्टेज व बिजली कटौती की समस्या है।

माहुद मंचादुर, केसरीटोला, खुर्सीटिकुल, कोरचाटोला में 20 घंटे बिजली कटौती: माहुद मंचादुर के सौरभ मिलिंद व केसरीटोला के पिन्टू तिवारी, खुर्सीटिकुल के बस्तर सलामे, कोरचाटोला के प्रकाश गजभिये ने उनके गांवों में 18 से 20 घंटा बिजली कटौती हो रही है। बिजली आती भी है तो लो वोल्टेज के कारण पंखा, टीवी, कूलर सहित अन्य बिजली उपकरण नहीं चल पाता। गांव में मोबाइल का उपयोग करने वालों को बैटरी चार्ज करने के लिए अन्य गांवों में जाना पड़ता है। इधर ब्लाॅक मुख्यालय में भी हो रही घंटों बिजली कटौती व लो वोल्टेज की समसया से लोग परेशान हैं।

कांग्रेस का प्रतिनिधि मंडल जल्द करेगा चर्चा
महिनेभर से ब्लाॅक में हो रही बिजली कटौती व लो वोल्टेज की समस्या के निदान के लिए ब्लाॅक के कांग्रेस कार्यकर्ता जिला मुख्यालय में कंपनी के चीफ इंजीनियर एवं डोंगरगांव में डीई से मिलकर क्षेत्रवासियों की परेशानी बताएंगे। ब्लाॅक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अनिल मानिकपुरी ने बताया कि ब्लाॅक कांग्रेस का एक प्रतिनिधि मंडल जल्द ही समस्या को लेकर बिजली अफसरों से चर्चा करेगी।

बिल हाफ का वादा था, बिजली आधी हो गई: यादव
जिला पंचायत सदस्य अरूण यादव ने कहा कि छग सरप्लस बिजली वाला राज्य है। इसके बाद भी जिले एवं छग में 24 घंटे बिजली नहीं मिल पा रही है। चुनाव से पूर्व कांग्रेस ने प्रदेश में बिजली बिल हाफ करने का वादा किया था, लेकिन बिजली बिल हाफ का तो अता पाता नहीं है पर बिजली सप्लाई जरूर आधी हो गई है। कांग्रेस सरकार हर मार्चे में असफल है। कांग्रेस सरकार जनता के हित के स्थान पर आपसी लड़ाई से ही उबर नहीं पा रही है। इधर नगर के भाजयुमो नेता आशीष द्विवेदी, अजहरूद्यीन, विमल यादव ने बिजली की समस्या को लेकर आंदोलन का अल्टीमेंटम दिया है।

एई कार्यालय में नहीं रहते मौजूद, मनमानी जारी
ब्लाॅक मुख्यालय में बिजली कंपनी का जेई व एई कार्यालय संचालित है। एई कार्यालय में मौजूद नहीं रहते है। कर्मचारियों की मनमानी व लापरवाही का नतीजा स्थानीय उपभोक्ताओं को भोगना पड़ रहा है। कनेक्शन के नाम पर उपभोक्ताओं से अवैध उगाही की जा रही है। पावर कट व लो वोल्टेज की समसया पर बात करने पर एक ही जवाब मिलता है कि आगे से सप्लाई ठप है और बारिश नहीं हो रही है। लोड बढ़ गया है।

लोड बढ़ने के कारण लो वोल्टेज की समस्या आ रही: जेई
कंपनी के जेई बीएन कुर्रे ने बताया कि आगे से आपूर्ति बाधित होने पर बिजली गुल हो रही है। लोड बढ़ने के कारण लो वोल्टेज की समस्या आ रही है। शीर्ष कार्यालय व अधिकारियों को समस्या की जानकारी दी गई है।

खबरें और भी हैं...