यही बचाएगा कोरोना से:सुखद टीका, जिले में वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ी; पॉजिटिव दर हुई जीरो

राजनांदगांव2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गंडई के 82 वर्षीय मोहम्मद खान सेंटर पहुंचे और वैक्सीनेशन कराया। - Dainik Bhaskar
गंडई के 82 वर्षीय मोहम्मद खान सेंटर पहुंचे और वैक्सीनेशन कराया।
  • टीकाकरण के लक्ष्य की पूर्ति हो रही, वनांचल में भी है उत्साह
  • टीम सक्रिय: लोग अब वैक्सीनेशन के मायने समझने लगे हैं, लगवा रहे दोनों डोज

जिले में वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ी तो अब लगातार सुखद खबर सामने आ रही है कि यहां पॉजिटिव दर शून्य हो गया है। शहर सहित ग्रामीण क्षेत्र से भी संक्रमित सामने नहीं आ रहे हैं जबकि स्वास्थ्य विभाग की ओर से रोज 1500 से 2000 तक सैंपलिंग ली जा रही है। यहां तक बाजार में भी सैंपलिंग कर रहे हैं। स्वास्थ्य अमला वैक्सीनेशन के निर्धारित टारगेट के करीब भी पहुंच गया है।

जिले में 11 लाख 58 हजार 343 लोगों को टीका लगना है। अभी तक 7 लाख 90 हजार 691 लोगों को टीका लग चुका है। इनमें से 6 लाख 55 हजार 328 लोगों को पहला डोज लगा है और 1 लाख 35 हजार 363 लोगों ने वैक्सीन की दूसरी डोज भी लगवा ली है। मानपुर जैसे पिछड़े क्षेत्र में वैक्सीनेशन का टारगेट 67 हजार 496 रखा गया था। यहां पर अब तक 51 हजार 541 लाेगों को टीका लग चुका है।

मोहला ब्लॉक में टीका लगाना बड़ी चुनौती थी
मोहला ब्लॉक में 66 हजार 425 का टारगेट दिया गया था पर यहां 54 हजार 485 लोगों ने वैक्सीन की डोज ले ली है। स्वास्थ्य विभाग के लिए इन क्षेत्रों में वैक्सीनेशन कराना बड़ी चुनौती थी,क्योंकि इस क्षेत्र से लगातार टीका को लेकर विरोध की खबरें सामने आ रहीं थीं। कुछ लोग तरह-तरह की भ्रांतियां फैला रहे थे पर स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमले ने लगातार गांवों में दस्तक दी। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, मितानिनों के साथ ही शिक्षकों की मदद लेकर ग्रामीणों को जागरूक कर टीकाकरण कराया जा रहा है।

टीकाकरण में प्रदेश में चौथे नंबर पर जिला
वैक्सीनेशन के मामले में जिले की स्थिति बढ़िया है। जिला अभी प्रदेश में चौथे नंबर पर है। दुर्ग, रायपुर, रायगढ़ के बाद राजनांदगांव में तेजी से वैक्सीनेशन हो रहा है। अफसरों ने बताया कि लोगों में पहले से जागरूकता बढ़ी है। पहले ही डोज के लिए लोगों को बुलाना पड़ता था पर अब स्थिति यह है कि लोग समय होने के बाद दूसरा डोज लगवाने पहुंच रहे हैं। इससे दूसरे भी उत्साहित हो रहे।

नियमित सप्लाई नहीं, सेकंड डोज का संकट
जिले में वैक्सीन का पहला डोज टारगेट के अनुसार चल रहा है पर दूसरे डोज में पिछड़ रहे हैं। नियमित रूप से वैक्सीन की खेप नहीं पहुंचने से दूसरी डोज लगवाने के लिए लोगों को परेशान होना पड़ रहा। वर्तमान में 94 सेंटर संचालित हो रहे हैं। इसके पहले 200 सेंटर थे पर वैक्सीन कम होने से सभी सेंटर को संचालित नहीं कर पा रहे हैं। जिले में अभी 7 हजार कोवैक्सीन और 10 हजार कोविशील्ड वैक्सीन की डोज उपलब्ध है।

स्थिति सुधरी, वनांचल में टारगेट पूरा हो रहा है
जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. बीएल तुलावी ने बताया कि जिले में वैक्सीनेशन की स्थिति पहले से सुधरी है। लोग स्वयं टीका लगवाने आ रहे हैं। वनांचल में भी टारगेट पूरा हो रहा है। जिला स्तर भी लक्ष्य के करीब पहुंच गए हैं। उन्होंने बताया कि अभी उन क्षेत्रों को फोकस कर रहे हैं जहां पहली डोज कम संख्या में दी गई है।

खबरें और भी हैं...