पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इस लॉकडाउन से दो कदम पीछे हटा कोरोना:पॉजिटिव दर 27 से घटकर 20% तक पहुंची, गंभीर मरीज भी ठीक होकर लौट रहे घर

राजनांदगांव7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में अप्रैल माह का 15 दिन सबसे खतरनाक रहा पर अब हालात बदल रहे हैं, सैंपलिंग बढ़ी है पर संक्रमितों की संख्या घटने लगी है, टूट रही संक्रमण की चेन
  • घरों तक सीमित रहने का सुखद परिणाम सामने आ रहा, प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करते रहे तो हारेगा कोरोना

कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए जिले को लॉकडाउन किया गया है। 10 अप्रैल से लॉकडाउन जारी है और अब इसका सुखद और राहत भरा परिणाम सामने आ रहा है। लोगों के घर तक सीमित रहने की वजह से पॉजिटिव दर में तेजी से कमी आ रही है।

सप्ताहभर पहले पॉजिटिव दर 27 प्रतिशत तक पहुंच गया था। यह सबसे खतरनाक स्थिति थी पर अब पॉजिटिव दर गिरकर 20 प्रतिशत तक पहुंच गया है। यानी की सात दिनों में 5 प्रतिशत तक पॉजिटिव दर में गिरावट हुई है। वहीं राहत देने वाली खबर यह भी है कि कई गंभीर मरीज, जिनका ऑक्सीजन लेवल 70-80 तक पहुंच गया था, वे भी ठीक होकर घर लौट रहे हैं। अप्रैल माह में संक्रमण की रफ्तार तेज हुई। इसी माह के भीतर लगभग 1 लाख 4 हजार से अधिक लोगों के सैंपल लिए गए। इस माह स्वास्थ्य विभाग को सैंपल लेने में भी परेशानी हो रही ँथी। दिनभर में चार हजार से ज्यादा किट खत्म हो जा रहे थे। दरअसल इस माह ऐसे लोग सैंपल देने पहुंच रहे थे, जिनमें कोरोना के लक्षण थे या फिर सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। वहीं कई ऐसे लोग भी सामने आ रहे थे जो कि दूसरे संक्रमित के संपर्क में आकर एक्सपोज हो चुके थे। इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव ही आ रही थी।

यहां ज्यादातर मरीज सांस लेने में तकलीफ वाले थे
वहीं ऐसे संक्रमित भी सामने आ रहे थे, जिनका ऑक्सीजन लेवल तेजी से नीचे चला जा रहा था। इन संक्रमितों को सीधे ऑक्सीजन बेड की जरूरत पड़ रही थी। यही वजह है कि सरकारी से लेकर निजी हॉस्पिटल में भी ऑक्सीजन बेड को लेकर किल्लत शुरू हो गई थी। सबसे चिंताजनक स्थिति कोविड हॉस्पिटल की थी जहां लगभग एक माह तक बेड खाली नहीं थे। केवल सामान्य बेड थे पर ज्यादातर मरीज ऑक्सीजन लेवल नीचे गिरने वाले पहुंच रहे थे।

यहां ज्यादा संक्रमण
जिले में घुमका क्षेत्र में सबसे ज्यादा संक्रमित सामने आएं हैं। 10 से 30 अप्रैल तक की स्थिति में यहां से 49 प्रतिशत केस मिले हैं।

शहर में कंट्रोल, गांव में बढ़ा संक्रमण का दायरा
जिले में शहरी क्षेत्र में कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम हुई पर लॉकडाउन के बाद भी ग्रामीण क्षेत्र में संक्रमण बढ़ा हुआ है। इसके पीछे कई कारण गिनाए जा रहे हैं। गांव स्तर पर वैवाहिक आयोजन, प्रोटोकाल का पालन नहीं होना और जागरूकता की कमी के चलते भी यहां संक्रमण बढ़ा है। अंत्येष्टी होने पर कोविड प्रोटोकाल का पालन नहीं किया जा रहा।

चेन तोड़ने की जिम्मेदारी हमारी, आप घर पर ही रहें
लाॅकडाउन में घर से बाहर तो निकलें ही नहीं। खुद को होम आइसोलेट करके रखें। परिवार के बुजुर्ग और बच्चों की विशेष देखभाल करें। जरूरी काम होने पर ही घर से बाहर निकलें। सीएमएचओ डॉ मिथलेश चौधरी ने बताया कि संक्रमण की दर कम हो रही है। लोगों को प्रोटोकाल का इसी तरह पालन करना होगा, तभी संक्रमण की चेन टूट पाएगी।

659 नए केस मिले, 1025 मरीज डिस्चार्ज भी हुए
जिले में सोमवार को 659 कोरोना संक्रमित मिले। वहीं आज 1025 लोग डिस्चार्ज भी हुए हैं। आज तक जिले में 441 लोगों की मौत कोरोना से हो चुकी है। यहां कुल 8628 केस हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

    और पढ़ें