आदिवासी के मौत के प्रकरण:केरेगांव प्रकरण में भूख हड़ताल की तैयारी

राजनांदगांव13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कुमर्दा मंडल के प्रतिनिधियों ने केरेगांव प्रकरण में मृत किसान के परिजन को 50 लाख रुपए मुआवजा और दोषी अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने एडीएम को ज्ञापन देकर बेमियादी भूख हड़ताल करने के लिए अनुमति मांगी है। इस दौरान जिला भाजपा किसान मोर्चा अध्यक्ष हिरेंद्र कुमार साहू, प्रदेश भाजयुमो मंत्री कैलाश शर्मा, भाजपा मंडल अध्यक्ष गोपाल साहू, अनिरुद्ध चंद्राकर, दिग्विजय साहू और राजू गिरी गोस्वामी आदि ने एडीएम से मुलाकात की।

कुमर्दा भाजपा मंडल के प्रमुख नेताओं ने एडीएम से मुलाकात कर केरेगांव में आत्महत्या किए हुए आदिवासी किसान मृतक के परिवार को तत्काल 50 लाख रुपए की मुआवजा व दोषी अधिकारियों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई न किए जाने के विरोध में अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए करने के लिए प्रतिनिधि मंडल ने मुलाकात की। मृतक किसान सुरेश नेताम के आत्महत्या मामले में राजस्व अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा जो जांच रिपोर्ट

और पंचनामा तैयार किया गया है, वह पूर्णतः गलत है। पटवारी द्वारा राजस्व रिकॉर्ड में मृतक के खसरा नं. 521 की जिस भूमि को भर्री बताया जा रहा है वह वस्तुतः धनहा है और खसरा नं.के 556 रकबा 0.1130 हेक्टेयर (28 डिसमिल) तथा खसरा न. 568 रकबा 0.1010 हेक्टेयर (25 डिसमिल) कुल 53 डिसमिल भूमि भर्री है। लेकिन पटवारी द्वारा पांचसाला खसरा में गफलत करते हुए भर्री को धनहा बताया है। इसके अलावा मृतक के नाम पर धनहा भूमि ख.नं. 521 उसके नाम से जारी पांचसाला खसरा में दर्शाया नहीं जा रहा है।

खबरें और भी हैं...