• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bhilai
  • Rajnandgaon
  • Railway Closed The Underbridge, Business Came To A Standstill, Then The Traders Surrounded The AEN Office, The Railways Had Closed The Underbridge For A Long Time For Their Own Benefit.

करें समाधान:रेलवे ने बंद किया अंडरब्रिज, व्यापार ठप हुआ तो व्यापारियों ने घेरा एईएन दफ्तर, रेलवे ने अपने स्वार्थ के लिए लंबे समय से बंद कर रखा है अंडरब्रिज

डोंगरगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कालका पारा अंडरब्रिज खोलनें की मांग को लेकर जनप्रतिनिधियों व व्यापारियों ने घेरा एईएन दफ्तर। - Dainik Bhaskar
कालका पारा अंडरब्रिज खोलनें की मांग को लेकर जनप्रतिनिधियों व व्यापारियों ने घेरा एईएन दफ्तर।
  • विरोध - कालका पारा, बधियाटोला, मंदिर क्षेत्र समेत ग्रामीण क्षेत्र के लोग अंडरब्रिज से करते हैं आना-जाना

रेलवे ने तीसरी लाइन व प्लेटफार्म निर्माण के चलते कालका पारा के अंडरब्रिज को लंबे समय से अपने कब्जे में लेकर आवाजाही बंद कर रखा है। इससे रेलवे चौक व बुधवारी पारा का कारोबार लगभग पूरी तरह से ठप हो गया है। अंडरब्रिज से आवाजाही को बंद करने को लेकर व्यापारी लंबे समय से उम्मीद लगाकर बैठे हैं, लेकिन रेलवे ने निर्माण का हवाला देकर आवाजाही को पूरी तरह से बंद कर रखा है। मंगलवार को व्यापारी आक्रोशित हो उठे और एकत्रित होकर एईएन (असिस्टेंट इंजीनियर) दफ्तर का घेराव करने पहुंच गए।

नगर पालिका अध्यक्ष सुदेश मेश्राम व नेता प्रतिपक्ष अमित छाबड़ा के नेतृत्व में रेलवे चौक के व्यापारी पैदल मार्च करते हुए एईएन दफ्तर पहुंचे। आक्रोशित व्यापारियों ने कहा कि कोरोनाकाल के पूर्व से ही कालका पारा अंडरब्रिज से आवाजाही को बंद कर दिया गया है। जबकि कालका पारा, बधियाटोला, मंदिर क्षेत्र समेत ग्रामीण क्षेत्र के लोग अंडरब्रिज से रेलवे चौक आना-जाना करते हैं।

पटरी पार के लोगों के भरोसे चल रही थी दुकानें

पटरी पार के लोगों के भरोसे रेलवे चौक व बुधवारी पारा के दुकानदारों का व्यापार चल रहा था लेकिन आवाजाही बंद होने की वजह से कालका पारा क्षेत्र के लोग नए अंडरब्रिज व ओवरब्रिज से आवाजाही कर रहे हैं। रेलवे चौक आने के लिए लंबी दूरी होने की वजह से लोग खरीदारी गोल बाजार से करके वहीं से वापस हो रहे हैं। पहले तो अंडरब्रिज बंद होने से व्यापार ठप है।

रेलवे ने अंडरब्रिज को हमेशा नाला ही माना

रेलवे ने कालका पारा अंडरब्रिज को हमेशा बरसाती नाला ही माना है। रेलवे के रिकार्ड में अंडरब्रिज नाला दर्ज है। इसलिए उसने न तो कभी मरम्मत कराई और न ही आम लोगों को आवाजाही में सुविधा प्रदान की। जबकि पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष तरूण हथेल ने अपने कार्यकाल में रेलवे के अफसरों से पत्राचार कर आवागमन को सुगम बनाने मरम्मत कराकर सड़क बनवाई थी।

एफओबी से आवाजाही भी बंद, खोलने की मांग की

कालका पारा के लोग प्लेटफार्म के उपर बने फुट ओवरब्रिज का उपयोग पैदल आवाजाही के लिए कर रहे थे। लेकिन कोरोनाकाल से एफओबी को भी रेलवे ने बंद कर रखा है। इसलिए पैदल आवाजाही भी नहीं कर पा रहे हैं। कालका पारा के लोगों को खरीदारी करने लंबी दूरी तय करके गोल बाजार आना पड़ रहा है। बुधवारी व रेलवे चौक का व्यापार पटरीपार के निवासियों के भरोसे चलता है। लेकिन रेलवे की मनमानी के चलते भी एफओबी कोरोनाकाल से बंद है। केवल यात्रियों के लिए प्लेटफार्म से एफओबी होकर आवाजाही हो रही है।

मंदिर क्षेत्र में दर्शनार्थियों की भीड़ लगी रहती है

पार्षद अलका जयेश सहारे, शिव निषाद, रमेश लिल्हारे, तरूण हथेल, मतीन खान, सोनू तिवारी, पिंटू भाटिया, विनायक अन्ना व अन्य व्यापारियों ने बताया कि अंडरब्रिज निर्माण होने के बाद रेलवे क्रॉसिंग को तत्काल बंद कर दिया गया। इसलिए अब पटरीपार जाने के लिए नया अंडरब्रिज व ओवरब्रिज की माध्यम है लेकिन मंदिर क्षेत्र होने की वजह से दर्शनार्थियों की आवाजाही व भीड़ रहती है। वहीं रणचंडी मंदिर से नीचे मंदिर तक रास्ता काफी खराब हो गया है। गोल बाजार जाने कालका पारा क्षेत्र के लोगों को लंबी दूरी तय करनी पड़ती है।

निर्माण कार्य पूरा होने के बाद होगी आवाजाहीः सिंह

कालका पारा अंडरब्रिज खोलने को लेकर रेलवे के एईएन डीके सिंह का कहना है कि अभी निर्माण कार्य जारी है। यदि आवाजाही चालू कर दिया जाता है तो हादसे की जिम्मेदारी कोई नहीं लेगा। इसलिए अभी निर्माण करीब 8-10 माह और चलेगा। इसके बाद अंडरब्रिज से आवाजाही शुरू करा दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...