पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किसान क्रेडिट कार्ड:किसानों को 422 करोड़ रुपए का लोन वितरित

राजनांदगांव15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कलेक्टर बोले- ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि संबंधी अधोसंरचना को सशक्त करने के लिए ऋण दें

कलेक्टर ने जिला स्तरीय समन्वय एवं सलाहकार समिति की बैठक ली। इस दौरान कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि संबंधी अधोसंरचना के लिए भी शासन द्वारा छूट प्रदान की गई है। कृषि से जुड़ी अन्य गतिविधियों फूड प्रोसेसिंग, डेयरी, मछली पालन, मुर्गीपालन, बकरी पालन, फलदार पौधरोपण एवं अन्य गतिविधियों में ऋण प्रदान करें। आधुनिक खेती को प्रोत्साहित करने के लिए किसानों को अधिक से अधिक ऋण दें। बैंकर्स का प्रयास कमजोर वर्ग की आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए होना चाहिए। उन्होंने मुद्रा लोन में प्रगति लाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने बैठक में अनुपस्थित बैंकर्स को शो कॉज नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। जिले में जून तिमाही तक किसान क्रेडिट कार्ड के तहत 422 करोड़ का किसानों को ऋण प्रदान किया गया।

कलेक्टर सिन्हा ने कहा कि लोगों को वित्तीय साक्षरता के माध्यम से जागरूक करें। विशेष कर ग्रामीण क्षेत्रों में जनसामान्य को रुपए की धोखाधड़ी एवं चिटफंड कंपनी से सजग रहकर सुरक्षा के संबंध में बताएं। हमारी जिम्मेदारी है कि आम जनता को ठगी से बचाएं। इसके लिए व्यापक प्रचार-प्रसार की जरूरत है। उन्होंने कहा कि धान खरीदी केंद्रों में ठगी से बचने के लिए बैनर लगवाएं, ताकि किसान एवं आम जनता उनके झांसे में न आएं। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत महिला स्वसहायता समूह की महिलाएं अच्छा कार्य कर रही है, उन्हें भी ऋण प्रदान करें। कलेक्टर ने आरसेटी द्वारा समूह की महिलाओं को दिए जा रहे प्रशिक्षण में कृषि से जुड़ी अन्य गतिविधियों पर प्रशिक्षण देने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि कन्वर्सेशन के माध्यम से सभी आजीविका संबंधी गतिविधियों को एकीकृत तरीके से कार्य करें। उन्होंने जिला पंचायत सीईओ श्री लोकेश चंद्राकर को इसकी मॉनिटरिंग करने के लिए निर्देश दिए।

रोजगार सृजन के लिए सभी बैंकर्स सामने आएं: अरविंद
क्षेत्रीय प्रबंधक दुर्ग अरविन्द काटकर ने कहा कि बैंक मित्र की संख्या बढ़ाकर उन्हें सक्रिय करने तथा गतिविधियां बढ़ाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के दौरान बेरोजगारी की स्थिति भी रही है। इसे दूर करने के लिए रोजगार सृजन के लिए सभी बैंकर्स आगे आएं। इस अवसर पर लीड बैंक अधिकारी अजय त्रिपाठी ने बताया कि जिले का साख जमा अनुपात 48 प्रतिशत है। प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना में शत प्रतिशत लक्ष्य की प्राप्ति की गई।

खबरें और भी हैं...