पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुलिस प्रताड़ना से आत्महत्या:एसआई, एएसआई व महिला आरक्षक लाइन अटैच, आज से होगा बयान

राजनांदगांव10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मामले की जांच एएसपी जेपी बढ़ई को सौंपी गई है, जांच में तथ्य आएंगे उस आधार पर होगी कार्रवाई

खैरागढ़ के करण वाल्मिकी आत्महत्या मामले में एसपी ने तीन पुलिस कर्मियों लाइन अटैच कर दिया है। इनमें एसआई मनीष शेंडे, एएसआई अनाराम साहू व महिला आरक्षक झमित ठाकुर शामिल हैं। इन्ही पर मृतक करण के परिजनों ने प्रताड़ना व 5 लाख रुपए मांगने का आरोप लगाया है।

इधर सोमवार से मामले की जांच शुरु होगी। जिसमें बयान भी लिया जाएगा। मामले की जांच एएसपी जेपी बढ़ई को सौंपी गई है। एएसपी बढ़ई ने बताया कि सोमवार से सभी पुलिस कर्मियों और शिकायत कर्ताओं का बयान लिया जाएगा। मृतक करण की पत्नी ने मामले की शिकायत एसपी से लेकर आईजी तक की थी, इसके बाद लाइन अटैच की पहली कार्रवाई सामने आई है। परिजनों का पक्ष है कि पुलिस जवानों के प्रताड़ना के बाद ही करण ने आत्महत्या का कदम उठाया। ऐसे में सभी पर आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला भी दर्ज किया जाए। एसपी डी. श्रवण ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है, जांच में जो भी तथ्य सामने आएंगे, उसके आधार पर कार्रवाई होगी। उल्लेखीय है कि यह मामला बेहद चर्चित रहा है। इसे लेकर उच्च स्तर पर मामले की जांच किए की भी मांग की गई थी।

9 मई को माना आरोपी, 17 तक नहीं किया गिरफ्तार
पूरे मामले में खैरागढ़ पुलिस की कार्रवाई को लेकर भी सवाल खड़ा हो रहा है। पुलिस की ओर से दावा किया गया है कि करण 32 लाख रुपए के गबन में संलिप्त था। पुलिस ने पहली बार करण को पूछताछ के नाम पर 9 मई को थाने बुलाया। लेकिन आरोपी मानने के बाद भी पुलिस ने 17 मई तक करण को गिरफ्तार नहीं किया।

कांग्रेस नेता नवाज खान से भी मिलने पहुंचे परिजन
आईजी से शिकायत के बाद करण की पत्नी मोनिका वाल्मिकी व परिवार के दूसरे सदस्य कांग्रेस नेता नवाज खान से भी मिलने पहुंचे। सभी खैरागढ़ कांग्रेस कोषाध्यक्ष जफर उल्लाह खान के साथ डोंगरगढ़ पहुंचे थे। जिन्होंने नवाज खान से मिलकर पूरी बात बताई। नवाज खान ने परिजनों को आश्वासन दिया है।

खबरें और भी हैं...