पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

तैयारी तेज:बॉर्डर के खरीदी केंद्रों पर होगी विशेष नजर, अस्थायी चेकपोस्ट में तैनात रहेंगे अफसर

राजनांदगांव2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 1 दिसंबर से धान खरीदी शुरू, जांच के लिए अलग-अलग विभाग के अफसरों की बनेगी टीम

समर्थन मूल्य में धान खरीदी के दौरान किसी भी तरह की गड़बड़ी को रोकने सख्ती तैयारी की जा रही है। खासकर बॉर्डर के करीब स्थित धान खरीदी केंद्रों में विशेष निगरानी की जाएगी। हर साल ऐसे केंद्रों में बंपर खरीदी दर्ज की जाती है। इसे समितियों की सांठगांठ के साथ कोचियों के धान खपाने की आशंका से भी जोड़कर देखा जाता है। कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने बीते दिनों खरीदी के लिए अफसरों की बैठक ली। इसमें उन्होंने जांच के लिए सख्त निर्देश जारी किया है। उन्होंने बॉर्डर के करीब स्थित खरीदी केंद्रों में विशेष निगरानी के लिए टीम बनाने की बात कही। इसके अलावा बॉर्डर में खरीदी के दौरान अस्थायी चेकपोस्ट भी लगाए जाएंगे। इसमें अलग-अलग विभागों के अफसरों की टीम बनाकर तैनाती की जाएगी। जो खरीदी के दौरान बॉर्डर पार से आने वाले धान की खेप पर नजर रखेंगे। जिले में इस बार 132 समितियों के माध्यम से 137 खरीदी केंद्रों में धान की खरीदी होगी। इसके लिए 1 लाख 95 हजार किसानों ने पंजीयन कराया है। इधर कृषि उपज मंडी में रोजाना 15 से 18 हजार कट्‌टा धान बिक रहा है। यहां दुर्ग व बालोद जिले से भी धान की आवक होने लगी है।

बोगस रकबा घटा पर किसानों की संख्या बढ़ी, 67 लाख क्विंटल खरीदी का लक्ष्य
जिले में 67 लाख क्विंटल धान खरीदी का लक्ष्य रखा गया है। लेकिन इस बार बढ़े किसानों की संख्या से इससे अधिक खरीदी की संभावना है। जिले में बोगस रकबा घटाने के लिए भी सर्वे किया गया। इसमें किसानों के खेत की मेढ़ सहित उन हिस्सों को पंजीयन से बाहर किया गया है, जहां फसल नहीं लगती। इससे रकबा घटने की संभावना थी। लेकिन किसानों की संख्या बढ़ने के चलते बीते साल की तुलना में इस बार रकबा और भी बढ़ गया है।

कोचियों के गोदामों में होगी छापेमारी, इस बार भी इनके खिलाफ सख्ती रहेगी जारी
खरीदी केंद्रों में किसी भी तरह से गलत तरीके से धान न खपे इसके लिए जिला प्रशासन ने सख्त तैयारी की है। आने वाले सप्ताह में कोचियों पर भी सख्ती बरती जा सकती है। प्रशासनिक सूत्रों के मुताबिक इसके लिए चिन्हित कोचियों के गोदामों में छापेमारी की जाएगी। बीते साल राइस मिलों और कोचियों के गोदामों में व्यापक स्तर पर छापेमारी की गई थी। जहां से बड़ी मात्रा में धान जब्त किया गया था। इस बार भी ऐसी ही सख्ती की तैयारी है।

चबूतरा निर्माण पूरा नहीं खरीदी में होगी दिक्कत
जिले में नई बनी समितियों सहित कुछ पुरानी समितियों में चबूतरा का निर्माण पूरा नहीं हो सका है। चबूतरा निर्माण खरीदी के पहले तय समय में पूरा करने का निर्देश दिया गया था, लेकिन एक दिसंबर से पहले इनका पूरा होना मुश्किल है। ऐसे में इन समितियों में धान खरीदी के दौरान कई तरह की दिक्कत सामने आ सकती है। नई समितियों में धान को सुरक्षित रखने के लिए जगह और पर्याप्त मजदूरों की भी फिलहाल कमी बनी हुई है। इसके लिए विभाग ने तेजी से काम जारी होने की बात कही है।

उपज मंडी में दुर्ग व बालोद से भी पहुंचने लगा धान
सरकारी खरीदी पहले दिसंबर से शुरू होगी। इसमें सरकार प्रति एकड़ 15 क्विंटल ही धान खरीदेगी। ऐसे में अपना अतिरिक्त धान किसान पहले ही मंडियों में बेचने पहुंच रहे हैं। दरअसल धान की फसल ज्यादातर हिस्सों में मिंजाई के बाद बिकने तैयार हो चुकी है। इसे देखते हुए किसानों ने फसल मंडी में बेचना शुरु कर दिया है। बसंतपुर मंडी में रोजाना बालोद और दुर्ग जिले के किसानों की भी धान पहुंच रही है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर जमीन जायदाद संबंधी कोई काम रुका हुआ है, तो आज उसके बनने की पूरी संभावना है। भविष्य संबंधी कुछ योजनाओं पर भी विचार होगा। कोई रुका हुआ पैसा आ जाने से टेंशन दूर होगी तथा प्रसन्नता बनी रहेगी।...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser