हाॅट स्पॉट में लापरवाही / कोविड वार्ड में सफाईकर्मियों से बंटवा रहे दवाएं डॉक्टर खुद जाने से बच रहे; नर्सों का भी विरोध

The doctors, who were distributing medicines from the scavengers in Kovid ward, are avoiding themselves; Nurses also protest
X
The doctors, who were distributing medicines from the scavengers in Kovid ward, are avoiding themselves; Nurses also protest

  • छत्तीसगढ़ में कोरोना का नया राजनांदगांव बना हाॅट स्पॉट
  • पेंड्री स्थित कोविड-19 हॉस्पिटल में मरीजों की संख्या बढ़ रही पर मरीजों को उनके हाल पर छोड़ दिया जा रहा

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 04:00 AM IST

राजनांदगांव. जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इस बीच मेडिकल टीम की बड़ी लापरवाही भी सामने आई है। पेंड्री के कोविड-19 हॉस्पिटल में कार्यरत चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों ने खुलासा किया है कि कोविड वार्ड में डॉक्टर जा रहे हैं और न ही नर्सेस। बल्कि ये चतुर्थ कर्मचारियों पर दबाव डालकर काम कर रहे हैं। सफाई कर्मियों से ही मरीजों में दवाइयां वितरण करा रहे हैं तो वहीं मरीजों की देखरेख भी इन्हे ही करनी पड़ रही है। सोमवार को कर्मचारियों ने सिविल सर्जन से लिखित शिकायत की। दूसरी ओर से कोविड-वार्ड में ड्यूटीरत कुछ नर्सेस पेंड्री से बसंतपुर अस्पताल पहुंची थीं। 
नर्सों ने आरोप लगाया है कि बार-बार उनकी ही ड्यूटी लगाई जा रही है। इस तरह कोविड वार्ड में कर्मचारियों के बीच तकरार जारी है। 
चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों ने बताया है कि जब वे सफाई करने व अन्य कार्य के लिए पीपीई किट पहनकर वार्ड के भीतर जाते रहते हैं, तभी नर्सेस दवाइयों का ट्रे थमा देती हैं और कहती हैं कि संबंधित मरीज को यह दवाइयां दे देना। मना करने पर नौकरी छोड़ देने की बात कहती है। बताया किया चतुर्थ कर्मचारियों को पूरे वार्ड में सफाई करनी होती है। वर्क लोड बढ़ा दिया रिस्क जोन होने की वजह से पीपीई किट पहनकर जाते हैं। गर्मी के चलते ज्यादा देर तक वहां रुक नहीं सकते पर वर्क लोड के चलते वार्ड में हलाकान होना पड़ रहा है। दवाइयों का वितरण करने का काम नर्सेस का है। सफाई कर्मी सिर्फ सफाई का काम करेंगे। 

दो बार ड्यूटी न लगाएं पीएचसी से बुलाएं नर्स 
इधर बताया जा रहा है कि नर्सों ने भी आरोप लगाया है कि जिन नर्सों की पहले ड्यूटी लग चुकी है, उन्हीं की फिर से ड्यूटी लगा रहे हैं। अगर नर्सेस की कमी है तो पीएचसी से बुलाई जाएं। बताया कि जो नर्सेस संक्रमित हुईं हैं, उन्हें सामान्य वार्ड में मरीजों के साथ रख दिया गया है जबकि इन्हे अतिरिक्त सुविधाएं दी जानी चाहिए। नर्सों ने बसंतपुर अस्पताल में ड्रेनेज सिस्टम सुधारने की मांग की। कहा कि पानी भरने से संक्रमण का खतरा रहता है। अधीक्षक डॉ प्रदीप बेक का कहना है कि वार्ड में क्या समस्या आ रही है। चेक कराने के बाद सुधार कराएंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना