पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मूकदर्शक बनी पुलिस:तीन घंटे जाम रहा हाइवे, बसों में बैठे मासूम भूख-प्यास से बिलखते रहे, नहीं खोला रास्ता

राजनांदगांव23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कृषि बिल के विरोध में जिला किसान संघ ने किया चक्काजाम, 14 संगठनों का समर्थन
  • जुटे कांग्रेसी: चक्काजाम के चलते हाइवे पर 10 किमी तक जाम में फंसे मुसाफिर, रास्ता खोलने की मिन्नतें

दिल्ली में चल रहे आंदोलन के समर्थन और कृषि बिल के विरोध में जिला किसान संघ की ओर से शनिवार को पार्रीनाला के समीप नेशनल हाइवे को तीन घंटे तक चक्काजाम किया गया। इसके चलते हाइवे पर 10 किलोमीटर तक वाहनों की लंबी कतार लगी रही। सैकड़ों वाहन जाम में फंसे रहे।

इस जाम में सबसे ज्यादा बुरा हाल बच्चों का हुआ जो कि परिजनों के साथ बसों में सफर कर रहे थे। बच्चे रास्ता खुलने का इंतजार करते हुए भूख और प्यास से बिलखते रहे। हैरत की बात यह है कि बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती तो रही पर प्रदर्शनकारियों को हटाने की बजाय मूकदर्शक बनकर खड़े रहे। पुलिस अफसरों ने एक बार भी प्रदर्शनकारियों को रास्ता छोड़ने की समझाइश तक नहीं दी।

इस आंदोलन का आह्वान जिला किसान संघ की ओर से किया गया था पर इस प्रदर्शन में किसानों की संख्या कम थी बल्कि कांग्रेसी नेताओं की सक्रियता ज्यादा रही। किसान संघ की ओर से पार्रीनाला बायपास के समीप पंडाल लगाकर पहले धरना दिया गया। किसान नेताओं ने केन्द्र सरकार की ओर से लाए गए तीन कृषि बिल को काला कानून बताते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ नारेबाजी की। किसान संघ के प्रमुख सुदेश टीकम ने बताया कि कांग्रेस सहित अन्य संगठनों का साथ मिला।

कांग्रेसी पहले उतरे सड़क पर
किसान नेता धरना स्थल को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान कांग्रेसी नेता किसानों का इंतजार किए बगैर सड़क पर उतर गए थे। इसके बाद धरना स्थल से उठाकर किसान सड़क पर पहंुचे। सारे कांग्रेसी किसानों की ओर धरना देने पहुंच गए। कांग्रेसियों के साथ ही किसान संघ को छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा, ब्लॉक कांग्रेस कमेटी छुरिया, बहुजन समाज पार्टी, बौद्ध कल्याण समिति सहित कुल 14 विभिन्न संगठनों ने समर्थन दिया।

भूखे बच्चे मांग रहे थे खाना
भास्कर टीम ने चक्काजाम के दौरान जाम में फंसे लोगों से बातचीत की। इस दौरान रायपुर से राजनांदगांव की ओर से आ रही बस में बैठे तीन बच्चे गर्मी और भूख के चलते रो रहे थे। दुर्ग से लौट रही महिला कमला वैष्णव ने बताया कि तीन घंटे से जाम में फंसे हैं। बच्चे नाश्ता करके रायपुर से निकले थे इसलिए भूख के चलते रो रहे हैं। 65 वर्षीय बुजुर्ग रेहाना कुरैशी ने बताया कि वह दुर्ग से डोंगरगढ़ जाना था।

केवल घड़ी देखती रही पुलिस
हाइवे में चक्काजाम की सूचना किसानों ने पहले से ही दे दी थी। यह जानने के बाद भी पुलिस ने इन्हे रोकने कोई प्लानिंग ही नहीं की थी। किसान और कांग्रेसी नेता सड़क पर बैठे तो फिर तीन घंटे तक जमे रहे। इसके चलते ही सबसे व्यस्त मार्ग पर तीन घंटे तक जाम लगा रहा। मौके पर पहुंचे एएसपी जीएस ठाकुर, सीएसपी एमएस चंद्रा सहित अन्य अधिकारी केवल घड़ी देखते हुए तीन घंटे बीतने का इंतजार करते रहे।

सड़क पर लेट गए थे कांग्रेसी
प्रदर्शन के दौरान कांग्रेसी नेता सड़क पर लेट गए थे। कांग्रेसी नेताओं का कहना था कि कृषि बिल के नाम पर केन्द्र सरकार की ओर से किसानों से छल किया जा रहा है। दिल्ली में जारी आंदोलन को कुचलने के लिए केन्द्र सरकार कई तरह के साजिश रच रही है। प्रदर्शन में महापौर हेमा देशमुख, अल्प संख्यक आयोग के सदस्य हफीज खान, चंदू साहू्, ऋषि शास्त्री, राजा यादव, विनय झा, पप्पू धकेता व अन्य कांग्रेसी मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

    और पढ़ें