पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

रूठा मानसून:जलाशयों में भी नहीं है खेती के लिए पानी

राजनांदगांव14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सावन के 27 दिन बीते लेकिन उम्मीद के मुताबिक बारिश नहीं

सावन का 27 दिन बीत चुका है। इन दिनों में महज 102 मिमी. बारिश ही हुई है। जो खरीफ फसल के लिए सबसे चिंताजनक स्थिति है। खरीफ सीजन के लिए किसानों ने सोसाइटियों से 400 करोड़ रुपए का कर्ज लिया है। फसल को नुकसान हुआ तो इस कर्ज को चुकाना सबसे बड़ी चुनौती हो जाएगी। हालांकि रूठते मौसम को देखते हुए समय रहते ही किसानों ने बीमा कराने में भी गंभीरता दिखाई है। जिससे कुछ राहत की उम्मीद बनी हुई है। जिले में धान की बोनी को महीने भर से अधिक का समय बीत गया। लेकिन इस दौरान अच्छी बारिश नहीं हाेने के चलते फसल काे नुकसान पहुंच रहा है। जिले में साढ़े तीन लाख एकड़ रकबे में धान की फसल लगी है। इसमें से 70 फीसदी रकबा बारिश के भरोसे सिंचित होने वाला है। इधर सोयाबीन पर भी थमी बारिश का बुरा असर पड़ रहा है। अब सोयाबीन भी सूखने लगी है। डीडीए जीएस धुर्वे ने बताया कि किसानों को वैकल्पिक व्यवस्था से सिंचाई करने की सलाह दी जा रही है, जहां भी पानी के स्रोत हैं, वहां से सिंचाई के लिए पानी ले ताकि फसल बच सके। वर्तमान में अच्छी बारिश की जरूरत है।

सिस्टम में बदलाव, डेढ़ लाख से अधिक किसानों ने कराया बीमा
कमजोर पड़ रही बारिश से नुकसान से बचने के लिए इस बार किसानों ने फसल बीमा में अधिक गंभीरता दिखाई है। इस बार बीमा के सिस्टम में भी बदलाव किया गया था, बावजूद इसके 1 लाख 66 हजार से अधिक किसानों ने बीमा कराया है। बीते साल तक कर्ज लेने वाले किसानों का बीमा पहले ही कर दिया जाता था, लेकिन इस बार किसानों से अनुमति मांगी गई, फिर भी किसानों ने बीमा कराने में कोई लापरवाही नहीं बरती। बीमा से राहत की उम्मीद है।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - धर्म-कर्म और आध्यामिकता के प्रति आपका विश्वास आपके अंदर शांति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर रहा है। आप जीवन को सकारात्मक नजरिए से समझने की कोशिश कर रहे हैं। जो कि एक बेहतरीन उपलब्धि है। ने...

और पढ़ें