चिंताजनक / तेलंगाना और महाराष्ट्र से पहुंचे थे मजदूर कोरोना पॉजिटिव, जिले में 21 संक्रमित

Workers arrived from Telangana and Maharashtra, Corona positive, 21 infected in district
X
Workers arrived from Telangana and Maharashtra, Corona positive, 21 infected in district

  • नए पॉजिटिव मामलों में 8 पुरुष और 2 महिला शामिल, आमगांव के क्वारेंटाइन सेंटर में ठहरे थे सभी मजदूर
  • छुरिया ब्लॉक में लगातार सामने आ रहे हैं कोरोना पॉजीटिव, पीड़ितों को मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया
  • दूसरे राज्य से लौटने के बाद मजदूरों का सैंपल एम्स भेजा गया था, रिपोर्ट आते ही प्रशासन ने आमगांव की सीमा सील कर दी

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

राजनांदगांव. प्रवासी मजदूरों के लौटने के बाद जिले में कोरोना का कहर दिखने लगा है। लगातार केस सामने आ रहे हैं। शनिवार को छुरिया ब्लॉक के आमगांव क्वारेंटाइन सेंटर में रह रहे 10 मजदूरों की रिपोर्ट कोरोना पॉजीटिव आते ही हड़कंप मच गई है। एक साथ इतने सारे मजदूरों के कोरोना संक्रमित होने से प्रशासन की भी चिंता बढ़ गई है। बताया गया कि ये सारे मजदूर महाराष्ट्र और तेलंगाना से पहुंचे हैं। इनमें लक्षण तो दिखाई नहीं दिए थे पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से एहतियात के तौर पर इनका सैंपल लेकर भेजा गया था। प्रभावित मजदूरों को रेस्क्यू कर पेंड्री के मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। 
एम्स के डॉक्टरों ने देर शाम को रिपोर्ट जारी कर कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि की। इस तरह जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 21 हो गई है। अब तक 11 पॉजीटिव केस सामने आए थे। एक्टिव केस के मामले में प्रदेश में टॉप थ्री में राजनांदगांव जिला शामिल हो गया है। छुरिया क्षेत्र में ही पॉजीटिव केस बढ़कर 12 हो गए है। मरीजों की संख्या बढ़ते ही सेंटरों में ठहरे मजदूरों का सैंपल लेकर लगातार एम्स भेजा जा रहा है। इधर जिले में कोरोना को लेकर अब और एहतियात बरता जा रहा है।
20 मई को लिया था सैंपल
आमगांव क्वारेंटाइन सेंटर में ठहराए गए मजदूर तेलंगाना और महाराष्ट्र से 18 मई को लौटे हैं। इन्हे क्वारेंटाइन करने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 20 मई को सैंपल ले लिया था। रिपोर्ट में दो महिला और 8 पुरुष कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। बताया गया कि इनके संपर्क में अन्य मजदूर भी आए हैं।
छुरिया होते हुए आमगांव पहुंचे 
स्वास्थ्य अमला इनकी ट्रैवल हिस्ट्री निकालने में जुटा हुआ है। एक ही सेंटर में इतने संक्रमित सामने आते ही अन्य मजदूरों को अलग-अलग कर दिया गया है। वहीं गांव में आवाजाही प्रतिबंधित कर दी गई है। बताया गया कि ये मजदूर बागनदी बॉर्डर क्रॉस कर छुरिया होते ही आमगांव पहुंचे हैं। 
क्षेत्र के 11 गांव के बॉर्डर सील
छुरिया क्षेत्र के ही सागर गांव में शुक्रवार को दो पॉजिटिव केस सामने आया था। एक दिन बाद पड़ोस के गांव आमगांव में 10 केस सामने आए हैं। सागर और आमगांव की दूरी महज 2 किमी दूर है। तेजी से संक्रमण के बढ़ने के कारण प्रशासन की ओर से क्षेत्र के आसपास के 11 गांव के बॉर्डर में सीलबंदी कर दी है। 
घर से नहीं निकल रहे
इधर सोमनी क्षेत्र के ग्राम ईरा में कोरोना पॉजीटिव सामने आने के बाद से गांव में प्रवेश प्रतिबंधित है। संक्रमण के खतरे की वजह से ग्रामीण घर से भी नहीं निकल रहे। चौपाल सूना पड़ा है। खेत की ओर भी ग्रामीण नहीं जा रहे। मनरेगा का काम भी बंद है। ग्रामीणों का कहना है कि प्रशासन स्थानीय स्तर पर खाद-बीज की व्यवस्था कराए ताकि खेती शुरू कर सकें।
गांव में कर्फ्यू का नजारा
डोंगरगांव-छुरिया क्षेत्र के जंतर में भी यही हाल है। पॉजिटिव केस सामने आने के बाद गांव में कर्फ्यू सा सन्नाटा है। आवाजाही में प्रतिबंध के बाद ग्रामीणों के पास रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है। मजदूर डोंगरगांव और छुरिया मजदूरी करने आते थे अब घर में ही हैं। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना