पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

परेशानी:21 दिन से नहीं हुई बारिश, खेतों में पानी नहीं, झुलसने लगी फसल

उपरवाह10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

क्षेत्र के कई गांवों के किसान बारिश नहीं होने के कारण चिंतित हैं। 21 दिन से बारिश नहीं पड़ने से धान, सोयाबीन, अरहर आदि की फसल झुलसने लगी हैं। खेतों में अब दरार पड़ चुकी है। अधिकतर किसानों की फसल को बोए 30 दिन से ऊपर होने जा रहा है, लेकिन फसल की ग्रोथ थम चुकी है। लंबे समय से बारिश नहीं होने के कारण अब तक बियासी कार्य नहीं हो पाया है।
जिन किसानों ने रोपाई एवं लाई चोपी पद्धति से ऊपज लेने की तैयारी की है वह किसान भी निराश हैं। वे अपने खेतों में अभी तक खाद नहीं डाल पाए हैं। किसानों ने सोसायटियों से कर्ज में खाद, बीज एवं नकद राशि खेती के लिए हैं लेकिन इसको चुकाने की चिंता अभी से सताने लगी है। अब किसानों को चिंता सताने लगी है कि इस बार कहीं सूखा आकाल की मार तो नहीं झेलनी पड़ेगी। ग्राम पंचायत तिलई के किसानों को भी बीमा का लाभ नहीं मिला। स्थायी कनेक्शन से पंप चलाने वाले किसानों को ज्यादा नुकसान हो रहा है, चूंकि कनेक्शन के आधार पर ट्रांसफार्मर की क्षमता को नहीं बढ़ाया गया है। 15 दिन से हर दिन कई बार बिजली गुल हो रही है। घरेलू एवं कृषि बोरवेल की कनेक्शन को अलग-अलग किया जाए। जिससे ट्रांसफार्मर में पड़ने वाला भर कम हो।
सब स्टेशन के पांच फीडर से नहीं हो रही सप्लाई: ठेलकडीह सब स्टेशन से घुमका को 33 केव्ही बिजली सप्लाई होती है। इसके अंतर्गत पांच फीडर पटेवा, मुड़पार, चारभाठा, हरडुवा, घुमका में बिजली मिलती है फिलहाल इन सभी फीडर के उपभोक्ताओं को रोज लगातार बिजली नहीं मिल पा रही है। घुमका जेई मुकेश मरावी ने बताया कि नए शेड्यूल के हिसाब से 3 घंटे बिजली कटौती करने का है लेकिन प्रारूप सफल नहीं हो पा रहा है।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें