पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कम दाब का क्षेत्र बनने से जिलेभर में बारिश:24 घंटे में शहर में 20 मिमी वर्षा, नदियों का जलस्तर बढ़ा, आज भी राहत की उम्मीद नहीं

अंबिकापुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतापपुर रोड में धोबी नाले के पास मछली व्यवसायी बीज बेच रहे हैं, बारिश में भीगने से बचाने बनाई झोपड़ी। - Dainik Bhaskar
प्रतापपुर रोड में धोबी नाले के पास मछली व्यवसायी बीज बेच रहे हैं, बारिश में भीगने से बचाने बनाई झोपड़ी।
  • कई सिस्टम बनने से बंगाल की खाड़ी से आ रही नम हवा

वातारण के ऊपरी स्तर पर एक साथ कई सिस्टम बनने के कारण जून में सावन जैसी झड़ी लग गई है। कम दाब का क्षेत्र बनने से रुक-रुक हो रही बारिश ने शहर सहित जिले को भिगो दिया है। नदियों में पानी का स्तर बढ़ गया है। शहर में 24 घंटे के भीतर 20.3 मिमी बारिश होने से जून में अब तक हुई वर्षा का आंकड़ा बढ़कर 160 मिमी पहुंच गया है।

अब यह जून की औसत बारिश 221 मिमी से मात्र 61 मिमी ही कम है। बारिश से अभी राहत की उम्मीद नजर नहीं आ रही है। बंगाल की खाड़ी से आ रही नम हवा के कारण अगले 24 घंटे तक बारिश के आसार हैं। मौसम विभाग के अनुसार रविवार से मौसम के साफ होने की उम्मीद है। बहरहाल बारिश ने मौसम को खुशनुमा कर दिया है। बारिश से जिले में कही भी रास्ता बंद होने या नुकसान की खबर नहीं है। खरीफ की खेती के लिए इसे अच्छा माना जा रहा है।

नमी बढ़ने से तापमान में गिरावट, दिन का तापमान सामान्य से 7 डिग्री नीचे पहुंचा हवा में घुली नमी के कारण तापमान में कमी दर्ज की गई है। शुक्रवार को दिन का अधिकतम तापमान 28.6 मिमी तो न्यूनतम तापमान 22.3 मिमी दर्ज किया गया। दिन का औसत तापमान सामान्य से करीब 7 डिग्री नीचे पहुंच गया है। इससे उमस भी अब खत्म हो गई है। धूप निकलने पर ही उमस होने की आशंका रहेगी।

कई सिस्टम बनने से हो रही वर्षा
बंगाल की खाड़ी से आ रही नमी के कारण पूरे छत्तीसगढ में घने बादल छाए हैं। इससे अगले दो दिन तक उत्तर छत्तीसगढ़ सहित शेष छत्तीसगढ़, बिहार, झारखण्ड, नार्थ ईस्ट, उत्तरभारत व मध्य भारत मे विदर्भ तक अच्छी वर्षा का क्रम जारी रहेगा।
- एएम भट्ट, मेट्रोलॉजिस्ट, मौसम विज्ञान केंद्र, अंबिकापुर

खबरें और भी हैं...