पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वैक्सीन का टोटा:5 दिन बाद 4 हजार खेप मिले, एक दिन में 2500 से ज्यादा खत्म

अंबिकापुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरगुजा में कोरोना की वैक्सीन कम होने से सिर्फ दो ब्लाॅकों के 20 केंद्रों में टीकाकरण, केंद्रों में लगी रही लाइन

सरगुजा जिले में कोरोना वैक्सीनेशन की रफ्तार पर स्टाॅक की कमी भारी पड़ रही है। अब कई दिनों तक वैक्सीनेशन बंद रह रहा है और टीके का स्टाॅक मिल भी रहा तो एक से दो दिन में खत्म हो जा रहा है। इससे न केवल लोग बल्कि स्वास्थ्य विभाग की परेशानी बढ़ गई है।

बुधवार को जिले में कोरोना वैक्सीनेशन की स्थिति कुछ ऐसी ही रही। स्टाॅक खत्म होने से 4 दिनों तक जिले में टीकाकरण पूरी तरह बंद रहा और पांचवें दिन 4 हजार डोज पहुंची। इसमें बुधवार को शाम तीन बजे तक 2500 से ज्यादा डोज खत्म हो गई। शाम तक इसमें और बढ़ोतरी हो सकती है।

यह स्थिति तब रही जब विभाग की ओर से अंबिकापुर शहरी व ग्रामीण इलाके के सिर्फ 20 केंद्रों में ही वैक्सीनेशन किया गया। कई केंद्रों में तो शाम होने से पहले ही डोज खत्म हो गई और लोग बिना वैक्सीन लगवाए ही लौटे। स्टाॅक की कमी से बार-बार वैक्सीनेशन बंद होने से अभियान पर नाकारात्मक प्रभाव पड़ रहा है।

पहले लोग टीका लगवाने तैयार नहीं हो रहे थे और प्रशासन को जागरूकता अभियान चलाना पड़ा था और अब जब लोग टीका लेने सामने आ रहे हैं तो उन्हें उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। जिले में कुल 3.10 लाख लोगों को पहली व 1 लाख लोगों को दूसरी डोज लग पाई है।

10 दिनों में सिर्फ दो बार कोविशिल्ड की आई खेप

10 दिनों के भीतर स्वास्थ्य विभाग को कोरोना वैक्सीन की दो बार खेप मिली। पहली बार में 15 हजार डोज व दूसरी बार में 4000 डोज मिली है। दोनों कोविशील्ड ही है। अब ऐसे लोग परेशान हैं, जिन्हें को-वैक्सीन की दूसरी डोज लगनी है।

कोविशिल्ड में ऐसे कई लोग हैं, जिन्हें दूसरी डोज का समय हो गया है और उन्हें उपलब्ध नहीं हो पा रही है। गांधीनगर निवासी सतीश पांडेय ने बताया उन्हें को-वैक्सीन की दूसरी डोज लगनी है। समय 5 दिन पहले ही पूरा हो गया है, लेकिन यह कहीं उपलब्ध नहीं है।

रायपुर से स्टाॅक कब मिलेगा इसका पता नहीं

स्वास्थ्य विभाग की टीम वैक्सीन लेने दोबारा रायपुर नहीं गई है। क्योंकि, वहां भी स्टाॅक नहीं है। स्टाॅक कब उपलब्ध होगा, पता नहीं है। पहले एक-दो दिन पहले इसकी जानकारी दे जाती थी, लेकिन अभी वैक्सीन पहुंचने के बाद बताया जा रहा है। कंपनियां मांग के अनुसार टीका उपलब्ध नहीं कर पा रही हैं, जिससे यह स्थिति बन रही है।

स्टेट से सूचना मिलेगी वैसे ही टीका लेने टीम जाएगी

जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. राजेश भजगावली ने बताया कि पूरे प्रदेश में अभी कोरोना वैक्सीन की कमी है। कंपनियां डिमांड के अनुसार टीका उपलब्ध नहीं करा पा रही हैं। इससे ऐसी स्थिति बन रही है। स्टेट कार्यालय से हम लगातार संपर्क में है।

यदि वहां से सूचना मिलेगी तो टीका लेने हमारी टीम तुरंत रवाना होगी। हमारी तैयारी चौबीसों घंटे हैं। स्टॉक कम होने से इस बार सिर्फ 20 केंद्रों में ही वैक्सीनेशन किया गया। स्टाॅक ज्यादा होने पर अधिक केंद्र में टीकाकरण किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...