पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

गड़बड़ी या लापरवाही:पहली किस्त में 52,905 किसानों को मिले थे 10 करोड़ 58 लाख, 6वीं किस्त लेने तक सिर्फ 12,406 किसान बचे

बैकुंठपुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 40 हजार किसानों को पीएम सम्मान निधि योजना का लाभ नहीं मिला

फरवरी 2019 में किसानों को राहत देने पीएम सम्मान निधि योजना की शुर की गई थी। जबकि छठवीं किस्त का भुगतान होते-होते 52 हजार में से 12 हजार 406 किसान ही योजना का लाभ ले सके। इस गड़बड़ी की मुख्य वजह योजना का लाभ लेने में किसानों द्वारा जमा दस्तावेजों को बताया जा रहा है। जबकि असल वजह राजस्व और कृषि विभाग के कर्मचारियों की गलती है। क्योंकि बिना सर्वे के ही किसानों के डाटा की जानकारी दी गई। विभाग में इस गड़बड़ी को लेकर खलबली है। अब इस गलती को सुधारने किसानों के दस्तावेज को खंगाला जा रहा है। मामले का खुलासा किसानों की संख्या कम होने और योजना के तहत बैंक के खाता में राशि जमा नहीं होने पर हुआ। क्योंकि बड़ी संख्या में किसान विभाग का चक्कर लगा रहे हैं। कृषि विभाग के अनुसार पहली किस्त के लिए जुलाई 2018 में 64 हजार 448 किसानों ने पंजीयन कराया था। योजना में पहले 5 एकड़ प्रति किसान के पास जमीन का नियम था। बाद में जमीन की अनिवार्यता को खत्म कर सभी किसानों को योजना से जोड़ा गया। साल में किसानों को 2-2 हजार रुपए की तीन किस्त के तहत साल में 6 हजार रुपए सरकार को देने हैं। जिले में पहले किस्त के लिए 52 हजार 905 किसानों के खाते में 10 करोड़ 58 लाख 10 हजार जमा हुए। इसके बाद हर किस्त में किसानों की संख्या और राशि 20 फीसदी की दर से कम होने लगी। अब 40 हजार से अधिक किसान योजना से वंचित हैं।

अब 2 सौ से 3 सौ किसानों के रोज कागजात जांच कर आंकड़े में सुधार किया जा रहा है
बता दें कि योजना की शुरुआत में कृषि विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों ने किसानों की जमीन से संबंधित सही जानकारी कलेक्ट नहीं की थी। अब हर दिन 2 से 3 सौ किसानों के दस्तावेज की जांच कर सुधारने का काम किया जा रहा है। पहले योजना का लाभ लेने वोटर आईडी अनिवार्य थी, लेकिन गड़बड़ी सामने आने पर आधार कार्ड को अनिवार्य किया गया।

योजना में अफसर-कर्मियों ने शुरुआत में ही किसानों की गलत जानकारी जुटाई
अब क्रास चेकिंग करने का काम शुरू किया गया, जिसमें कई तरह की गड़बड़ी सामने आने लगी हैं। जैसे किसी किसान के पास मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ दोनों राज्य में जमीन है, तो वह दोनों जगह योजना का लाभ लेने पंजीयन करा लिया है। अब जमीन, आधार नम्बर और बैंक खाता तीनों का मिलान सही होने पर ही योजना का लाभ किसानों को मिलेगा।

जांच में गड़बड़ी मिलने के बाद से किसान का सूची से नाम हटने से राशि मिलनी बंद
डकईपारा के रहने वाले किसान राम प्रसाद और आमगांव के रामफल ने योजना के तहत दोगुनी राशि पाने के लालच में दो बार पंजीयन करा लिया। क्रास चेक करने के बाद योजना के तहत उसे राशि मिलनी बंद हो गई। अब विभाग उसके सभी दस्तावेजों की जांच करने में जुटा है।

दोहरा लाभ लेने के लिए दो जगह कराया पंजीयन, जांच में राशि मिलनी बंद हो गई
ब्लॉक मनेंद्रगढ़ के केल्हारी पंचायत में रहने वाले विजय कुमार गुप्ता के पास मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ दोनों राज्यों में जमीन है। इन्होंने दोहरा लाभ लेने दोनों जगह पंजीयन कराने एक ही दस्तावेज लगा दिए। जांच के बाद राशि मिलनी बंद हो गई है।

कर्मचारियों की लापरवाही से 60 फीसदी नाम कट गए
ऐसे किसानों की संख्या बहुत बड़ी है, जिनके नाम में मात्रा की गलती है या आधार कार्ड के अनुसार नाम की एंट्री नहीं हुई। गलत आधार नम्बर जमा हो गया, बैंक खाता नम्बर गलत एंट्री, किसान का नाम कुछ और है। दस्तावेज किसी और किसान का लग गया है।

सफाई: राजस्व विभाग की लापरवाही से गड़बड़ी

डीडीए पीएस दीवान ने बताया किसानों और राजस्व विभाग की लापरवाही से गड़बड़ी सामने आई है, लेकिन अब किसानों के वेरीफिकेशन का काम किया जा रहा है। बहुत से किसानों ने अलग-अलग दस्तावेज लगाकर दो बार पंजीयन करा लिया है। अब जांच कर जानकारी दर्ज कर रहे हैं।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में रहेगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा। पिछले कुछ समय से चल रही किसी समस्या का समाधान मिलने से राहत मिलेगी। कोई बड़ा निवेश करने के लिए समय उत्तम है। नेगेटिव- परंतु दोपहर बाद परिस...

और पढ़ें