पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दहशत:डुपाखार पहुंचे 8 हाथी, 200 लोगों को पक्के भवन में किया शिफ्ट

अंबिकापुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • डर के कारण महिलाएं दोपहर में ही पका रहीं खाना, परिवार को खिलाने के बाद शाम के पहले पक्के भवन में पहुंच रहे

सरगुजा के उदयपुर इलाके के डुपाखार गांव में हाथियों के पहुंचने के बाद ग्रामीणों को रात में आंगनबाड़ी भवन और स्कूल भवन में रखा गया है। वहीं हाथी फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। बता दें कि दल में 8 हाथी उदयपुर इलाके में घूम रहे हैं और लोग रतजगा कर रहे हैं।

सबसे अधिक महिलाएं परेशान हैं, जो शाम ढलते ही घरों में जल्दी खाना बनाकर बच्चों को खिलाने के बाद सरकारी भवनों में जाकर शरण ले रही हैं। वहां भी इतनी जगह नहीं है कि 4-5 परिवार से अधिक के लोग रह सकें। हालांकि वन विभाग का दावा है कि इन भवनों में 200 लोगों को रखा गया है। उदयपुर इलाके में हाथियों का डेरा एक सप्ताह से हो रहा है और हाथी मुख्य मार्ग में भी घूम रहे हैं। इसके कारण वन विभाग के कर्मचारी हाथियों पर 24 घंटे ग्रामीणों के सहयोग से निगरानी कर रहे हैं तो फसलों के नुकसान से लोग नाराज हैं। लोगों का कहना है कि जितनी फसल का नुकसान होता है, उसके हिसाब से मुआवजा कम मिलता है और इसके लिए भी महीनों लग रहे हैं। रविवार देर शाम हाथियों के गांव पहुंचने से लोग दहशत में हैं।

कोल माइंस के कारण उजड़ रहे जंगल
हाथियों ने बुधवार रात स्कूटी सवार एक परिवार की जान ले ली थी। हाथियों ने स्कूटी सवार युवक को कुचल दिया था। उसकी पत्नी व 4 साल के बेटे को फुटबॉल की तरह 100 मीटर दूर फेंक दिया था। इससे लोग दहशत में हैं। उदयपुर इलाके में कोल माइंस के कारण बड़े पैमाने पर जंगल उजड़ रहा है। जानकारों का कहना है कि यहां जो हाथियों का कॉरिडोर था, वहां माइंस खुल रही है। इसके कारण हाथी बस्ती में पहुंच रहे हैं।

खबरें और भी हैं...