पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

360 की डस्टबिन 910 रुपए में खरीदी:शासन को 9.43 लाख का नुकसान, फिर भी कार्रवाई नहीं

अंबिकापुर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
इसी जानकी वाटिका के पुनरोद्धार में लाखों खर्च किए गए पर मौके पर काम नहीं दिख रहा है। - Dainik Bhaskar
इसी जानकी वाटिका के पुनरोद्धार में लाखों खर्च किए गए पर मौके पर काम नहीं दिख रहा है।
  • नगर पंचायत खोंगापानी में 1715 डस्टबिन की खरीदी में हुए भ्रष्टाचार पर विभागीय जांच का परदा

नगर पंचायत खोंगापानी में 2016-17 में डस्टबिन खरीदी में हुई गंभीर वित्तीय अनियमितता का मामला ठंडे बस्ते में जाता दिख रहा है। दरअसल नगर पंचायत ने यहां 15 लाख 60 हजार 650 रुपए की डस्टबिन खरीदी की थी जिसमें निर्धारित दर से 550 रुपए प्रति डस्टबिन पर अधिक दर के साथ 1 हजार 715 डस्टबिन की खरीदी हुई थी, जिससे 9 लाख 43 हजार 250 रुपए की क्षति शासन को हुई थी।

गड़बड़ी उजागर होने पर अपर कलेक्टर ने नगर पंचायत खोंगापानी के पांच वर्षों के कार्यकाल का विशेष ऑडिट स्थानीय निधि लेखा संपरीक्षकों से कराया जाना प्रस्तावित किया था। वहीं 18 अगस्त 2017 को संचालक नगरीय प्रशासन व विकास विभाग रायपुर को पत्र लिखकर दोषी अधिकारी तात्कालीन सीएमओ, लेखापाल, राजस्व उप निरीक्षक व भंडार प्रभारी मुक्ता सिंह चौहान, स्कंद प्रभारी लिपिक, नगर पंचायत अध्यक्ष व पीआईसी के सदस्यों के विरूद्ध कार्रवाई करने के लिए लिखा था।

लेकिन विभागीय जांच का हवाला देते हुए इस मामले को पूरी तरह से दबाया जा रहा है। उल्टा दोषी पाए जाने के बाद तात्कालीन राजस्व उप निरीक्षक मुक्ता सिंह चौहान को प्रभारी सीएमओ बना दिया गया।

पार्षद पी.मनी ने की थी कलेक्टर से शिकायत

भारतीय जनता पार्टी हसदेव क्षेत्र के तात्कालीन मंडल अध्यक्ष व खोंगापानी वार्ड 11 के वर्तमान पार्षद पी. मनी ने बताया कि कलेक्टर से 15 अप्रैल 2017 को शिकायत की थी कि नगर पंचायत खोंगापानी ने आस्था इंटर प्राइजेज से 24 अप्रैल 2016 को 25 लीटर की 765 डस्टबिन व 28 मार्च 2016 को 950 पीवीसी सेलो डस्टबिन की खरीदी में भ्रष्टाचार किया है।

खबरें और भी हैं...